Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > इंदौर में "दानपात्र" तकनीक से जरुरतमंदों की मदद कर रहे युवा

इंदौर में "दानपात्र" तकनीक से जरुरतमंदों की मदद कर रहे युवा

इंदौर में दानपात्र तकनीक से जरुरतमंदों की मदद कर रहे युवा
X

इंदौर। इंदौर के स्टार्टअप "दानपात्र" से टेक्नोलॉजी का हो रहा अनोखा प्रयोग ,घर के पुराने सामान को उपयोग लायक बना , युवाओं की ये टीम पहुंचा चुकी अब तक लाखों बेसहारा परिवारों तक मदद पहुंचा चुकी है। "दानपात्र" एक ऑनलाइन निःशुल्क प्लेटफॉर्म है जिसकी मदद से घरों में उपयोग में न आ रहे सामान जैसे कपड़े ,खिलोने ,किताबें ,जूते ,बर्तन इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स , फर्नीचर एवं अन्य सामान को कलेक्ट कर उपयोग लायक बना जरूरतमंद परिवारों तक पहुँचाया जाता है।


इस प्लेटफॉर्म की शुरुआत 10 मार्च 2018 में की गयी थी जिससे अब तक सेवा कार्य कर 9 लाख से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों तक मदद पहुंचाई जा चुकी है एवं 70 हजार से ज्यादा इंदौरवासी इस प्लेटफॉर्म से जुड़ चुके है इस प्लेटफॉर्म से 5 हजार से ज्यादा वालंटियर्स जुड़े हुए है जो अपना समय देकर सहयोग करते है "दानपात्र" की पारदर्शिता से कार्य करने की वजह से इंदौर के साथ साथ विदेशों से भी लोग सामान डोनेट कर रहे है। "दानपात्र" के माध्यम से कोई भी व्यक्ति घर बैठे सिर्फ एक फ़ोन कॉल पर या "दानपात्र" ऐप में रिक्वेस्ट डालने पर सामान डोनेट कर सकता है "दानपात्र" टीम के सदस्यों द्वारा रिक्वेस्ट मिलने पर घर जाकर वह सामान कलेक्ट किया जाता है और फिर उसे फ़िल्टर कर जरूरतमंद परिवारों तक पहुँचाया जाता है साथ ही उसका फोटो, वीडियो "दानपात्र" के सोशल मीडिया पेजेस पर जाकर अपलोड कर दिया जाता है।


जिसने भी सामान डोनेट किया है वह देख सकें की उसका दिया सामान किस जरूरतमंद परिवार तक पहुंचा है | "दानपात्र" देने वाले और लेने वालों के बिच सेतु बनकर दोनों की ही मदद कर रहा है इससे घरों में उपयोग में न आ रहे सामान को फेंकने से बचा कर जरूरतमंद परिवारो तक पहुँचाकर उनकी मदद की जा रही है जिससे समाज में कई सकारात्मक बदलाव आ रहे है। संस्था के सदस्यों द्वारा कोरोनाकाल में भी बिना रुके सतत कार्य कर लगभग 50 हजार से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों तक राशन किट एवं अन्य जरुरत का सामान पहुंचाकर उनकी मदद की गयी | टीम से जुड़े वालंटियर्स का कहना है की हमारे लिए यह बहुत जरूरी है कि हम समाज से कुछ ले रहे हैं तो उसके बदले में उसे क्या लौटा रहे हैं। और इस तरह का प्लेटफॉर्म मिलने से सही व्यक्ति तक मदद पहुँचाना बहुत ही आसान हो गया है और इस तरह के इनिशिएटिव से हम सभी को जुड़कर मदद के लिए जरूर आगे आना चहिये |

बेकार कुछ नहीं है -


बेकार कुछ नहीं है बस जरुरत है की हमें पता होना चहिये की बेकार सामान को किस तरह उपयोग में लाया जा सकता है जो लोग पुराने सामान को बेकार समझ कर फेंक दिया करते है उनके लिए "दानपात्र" प्रेरणा है की किस तरह टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके पुराने सामान को रीसायकल कर लाखों लोगो की मदद की जा सकती है उनकी जिंदगी को बेहतर बनाया जा सकता है

आप भी जुड़ सकते है "दानपात्र" से -


आप भी अपने उपयोग में न आ रहे पुराने सामान को डोनेट करके या फिर वालंटियर बनकर "दानपात्र" से जुड़ सकते है इसके लिए आप "दानपात्र" के हेल्पलाइन नंबर 6263362660 ,7828383066 पर संपर्क कर सकते है। "दानपात्र" टीम द्वारा स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में हाल ही में मिशन 151k पूरा किया गया। स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में एवं कोरोना महामारी से प्रभावित परिवारों तक मदद पहुँचाने के उद्देश्य से संस्था "दानपात्र" के 5 हजार से ज्यादा वालंटियर्स द्वारा हाल ही में 1 दिन में इंदौर और उसके आसपास की अलग अलग जगहों पर झुग्गी बस्तियों में रहने वाले परिवारों तक कपड़े ,राशन ,खिलौने ,किताबें ,जूते एवं घर का अन्य सामान पहुंचाकर लगभग 1.5 लाख जरूरतमंद परिवारों की मदद की गयी |

Updated : 2021-10-12T16:03:58+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top