Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > केंद्रीय मंत्री सिंधिया की पहल, भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट पर बढ़ेगी घरेलू एयर कार्गो की संचालन क्षमता

केंद्रीय मंत्री सिंधिया की पहल, भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट पर बढ़ेगी घरेलू एयर कार्गो की संचालन क्षमता

- दिसंबर 2022 तक मूर्त रूप लेते ही घरेलू एयर कार्गो आवाजाही की आवश्यकता पूर्ण होगी, बनी कार्ययोजना

केंद्रीय मंत्री सिंधिया की पहल, भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट पर बढ़ेगी घरेलू एयर कार्गो की संचालन क्षमता
X

नईदिल्ली/भोपाल/वेब डेस्क। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रयासों से मप्र के भोपाल और इंदौर विमानपत्तन पर घरेलू एयर कार्गो की संचालन क्षमता को बढ़ाने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय की महत्वपूर्ण कार्य योजना तैयार की गई है। इस कार्य योजना के दिसंबर 2022 तक मूर्त रूप लेते ही घरेलू एयर कार्गो आवाजाही की आवश्यकता पूर्ण होगी।

इंदौर विमानपत्तन पर बढ़ेगी सुविधा

इस कार्य योजना में मप्र के इंदौर विमानपत्तन पर और सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। इस हवाई अड्डे में अंतरराष्ट्रीय और घरेलू हवाई कार्गो दोनों को संभालने की सुविधा है। इस पुननिर्मित निर्यात एयर कार्गो टर्मिनल का उद्घाटन 6 जनवरी 2021 को हुआ था यह सुविधा 16644 मेट्रिक टन की वार्षिक संचालन क्षमता के साथ 1166 वर्ग मीटर के क्षेत्र में विकसित की गई है।चूकि घरेलू कार्यों के लिए मौजूदा सुविधा पुराने यात्री टर्मिनल भवन से संचालित की जा रही है जो जीर्णशीर्ण स्थिति में है मौजूदा ढांचे को बदलने के लिए सेंटर फॉर पेरिशेबल कार्गो (सीपीसी) सहित घरेलू एयर कार्गो टर्मिनल के लिए एक नई सुविधा की योजना बनाई जा रही है यह नियोजित संरचना 2000 वर्ग मीटर (300 वर्ग मीटर सेंटर फॉर पेरिशेबल कार्गो सीपीसी सहित) 73000 मैट्रिक टन की वार्षिक हैंडलिंग क्षेत्र में होगी। उक्त सुविधा को दिसंबर 2022 तक निर्मित और चालू करने का प्रस्ताव है यह सुविधा के लिए 10- 15 वर्षों के लिए घरेलू एयर कार्गो आवाजाही की आवश्यकता को पूरा करेगी।

भोपाल विमानपत्तन पर नई कार्य योजना

भोपाल विमानपत्तन हवाई अड्डे में पुराने यात्री टर्मिनल में घरेलू हवाई कार्गो को संभालने की सुविधा है। यह सुविधा पुराने यात्री टर्मिनल भवन के संशोधन के बाद 14-2-2020 को चालू की गई थी। यह सुविधा 16060 मेट्रिक टन की वार्षिक संचालन क्षमता के साथ 440 वर्गमीटर क्षेत्र में बनाई गई है। 373 मेट्रिक टन की वार्षिक संचालन क्षमता के साथ 10 वर्गमीटर के क्षेत्र में कोल्ड स्टोरेज की सुविधा भी प्रदान की गई है। यह सुविधा 14-7-2021 को चालू की गई थी क्योंकि रनवे विस्तार के लिए उक्त एयर डॉमेस्टिक कार्गो सुविधा के हिस्से को ध्वस्त कर दिया गया है। घरेलू एयर कार्गो के संचालन के लिए एक नई सुविधा की योजना बनाई गई है। यह नियोजित संरचना 29200 मेट्रिक टन की वार्षिक क्षमता के साथ 800 वर्ग मीटर के क्षेत्र में होगी। उक्त सुविधा को दिसंबर 2022 तक निर्मित और चालू करने का प्रस्ताव है। यह सुविधा अगले 10-15 वर्षों के लिए यह डॉमेस्टिक कार्गो मूवमेंट की आवश्यकता को पूरा करेगी।

ग्वालियर में भी जल्द एयरपोर्ट का विस्तार होगा

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रयासों से ग्वालियर में भी जल्द ही राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयरपोर्ट का विस्तार होगा और यहां पर भव्य टर्मिनल का निर्माण होगा। इसके लिए पिछले दिनों केंद्रीय कृषि मंत्रालय से संबंध आईसीएआर (भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद) के द्वारा एयरपोर्ट विस्तार के लिए आलू अनुसंधान केंद्र ग्वालियर की 110 एकड़ जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया नागरिक उड्डयन मंत्रालय भारत सरकार को आवंटित करने के लिए एनओसी जारी कर दी गई है।

Updated : 13 Sep 2021 5:44 PM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top