Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > भीषण हादसा : खड़े टैंकर में जा घुसी तेज रफ्तार कार, छह युवकों की मौत

भीषण हादसा : खड़े टैंकर में जा घुसी तेज रफ्तार कार, छह युवकों की मौत

भीषण हादसा : खड़े टैंकर में जा घुसी तेज रफ्तार कार, छह युवकों की मौत
X

इंदौर। लसूडिय़ा थाना क्षेत्र में निरंजनपुर चौराहे के पास सोमवार की देर रात भीषण सड़क हादसा हो गया, जिसमें छह युवकों की मौत हो गई। तेजी गति से जा रही कार सड़क किनारे खड़े टैंकर में जा घुसी। टक्कर इतनी भीषण थी कि कार में बैठे युवकों में से किसी का हाथ तो किसी का सिर कटकर शरीर से लटक गया। वहीं, कार के परखच्चे उड़ गए। हादसे में जिन चार युवकों की मौत हुई है, वह अपने घरों के इकलौते चिराग थे। सभी दोस्त कार में सवार होकर जन्मदिन की पार्टी मनाने के लिए गए थे, लेकिन आते समय हादसा हो गया और सभी एक साथ जान चली गई।

हादसा रात करीब डेढ़ बजे तलावली चांदा स्थित पेट्रोल पंप के पास हुआ है। तेजगति से आ रही कार सड़क किनारे खड़े टैंकर में घुस गई। आरक्षक सुरेंद्र यादव ने बताया कि हादसे के बाद युवकों को निकालने के लिए तत्काल कटर का इंतजाम किया गया। इसके बाद सभी को बाहर निकाला गया। इसमें से दो की हालत नाजुक थी, जिन्हें तत्काल अस्पताल भिजवाया गया। वहीं, चार की मौत हो चुकी थी। पेट्रोल पंप पर काम करने वाले धर्मेंद्र यादव ने पुलिस को बताया कि वह पेट्रोल पंप पर काम करता है। रात में पेट्रोल पंप पर ही था। इसी दौरान हाईवे की ओर से जोर का धमाका सुनाई दिया। दौड़कर मौके पर पहुंच तो देखा कि एक कार जिसका नंबर एमपी09डब्यूसी4736 थी, वह सड़क किनारे खड़े टैंकर एमपी 07जीए2499 में पीछे से घुस गई थी। हादसे में कार के परखच्चे उड़ चुके थे और कार सवार कार से बाहर लटके हुए थे। हादसे में चार की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो को कार से निकालकर अस्पताल भिजवाया गया, जहां उन्होंने भी दम तोड़ दिया।

लोगों की मदद से बाहर निकाला -

जैसे ही पुलिस को हादसे की खबर मिली लसूडिय़ा थाने के जवान सुरेन्द्र यादव और टीम मौके पर पहुंचे। थोड़ी ही देर में एडिशनल एसपी राजेश रघुवंशी ,सीएसपी मोटवानी, टीआई राजेंद्र सोनी ,इंद्रमणि पटेल भी वहां आ गए। जवान सुरेंद्र ने क्षतिग्रस्त कार में फंसे हुए युवकों को अन्य लोगों की मदद से जैसे-तैसे बाहर निकाला। हालत इतनी खराब थी कि किसी का भेजा हाथ में आ रहा था तो किसी का सिर। जैसे तैसे गाड़ी में फंसे हुए लड़कों को बाहर निकाला और 108 एंबुलेंस की मदद से एमवाई पहुंचाया। अस्पताल में सबसे पहले सूरज और देव को पहुंचाया गया, जिसमें से देव की मौत हो गई थी, जबकि सूरज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

Updated : 2021-02-23T13:48:06+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top