Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > योगमय हुआ ग्वालियर, कोरोना संकट के बीच घर-घर हुआ योगासन

योगमय हुआ ग्वालियर, कोरोना संकट के बीच घर-घर हुआ योगासन

नहीं हुए बड़े आयोजन, छोटे आयोजनों में हुआ सामाजिक दूरी का पालन

योगमय हुआ ग्वालियर, कोरोना संकट के बीच घर-घर हुआ योगासन
X

ग्वालियर, न.सं.। छठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर रविवार को ग्वालियर शहर योगमय हो गया। कोरोना संक्रमण को लेकर 'घर पर योग, स्वजनों के साथÓ के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान का असर दिखा। सुबह के समय घर-घर में लोगों ने परिवार के साथ योग कर उसकी तस्वीर सोशल साइट पर अपलोड किया। योग दिवस पर सामाजिक दूरी का भी लोगों ने पालन किया और पार्क, परिसरों में जाने की बजाय घर की छतों, कक्षों पर ही योग किया। योग के ज्यादातर आयोजन ऑनलाइन हुए और उनसे भी शहरवासी जुड़े। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए विभिन्न योग का अभ्यास लोगों ने किया। कहीं-कहीं सार्वजनिक कार्य कार्यक्रम तो हुआ लेकिन वहां समाजिक दूरी का अक्षरश: पालन किया गया।

रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आसन किए

आयुष विभाग ग्वालियर के अधिकारी-कर्मचारियों ने ऑनलाइन गूगल मीट एप के माध्यम से योग किया। जिला आयुष अधिकारी Óडॉ राकेश शर्माÓ के नेतृत्व में योगाभ्यास किया। विशेषकर रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आसानों को किया गया। नोडल अधिकारी डॉ. रवि वर्मा ने योग की बारीकियां सिखाई। इस दौरान डॉ. प्रताप शंकर भार्गव, डॉ. रामबाबू शर्मा, डॉ मंगल सिंह यादव, डॉ ओ.पी. गुप्ता, डॉ. के.एन. मेवाफरोश, डॉ. प्रवीण चिरगैयां आदि शामिल हुए। वहीं पार्वतीबाई गोखले विज्ञान महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. विजय कुमार गुप्ता सहित स्टाफ ने घर पर ही योग किया। एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी प्रशांत पांडे के निर्देशन में पूरी प्रक्रिया हुई।

पांच लाख परिवारों ने एक साथ किया योग

अंतरराष्ट्रीय प्राकृतिक चिकित्सा संगठन और सूर्या फाउंडेशन द्वारा आयुष मंत्रालय के सहयोग से देशभर के 26 जिलों में पांच लाख से अधिक परिवारों द्वारा योगाभ्यास किया गया। जिला समन्वयक दिनेश चाकनकर ने बताया कि आईएनओ के फेसबुक पेज के माध्यम से ग्वालियर जिले के पांच हजार से अधिक परिवार जुड़े और योग किया। वहीं मिहसिल स्कूल सिकंदर कम्पू में प्राचार्य के निर्देश में छात्रों व अभिभावकों ने योगाभयास किया।

गीता के श्लोक गाकर प्रतिदिन होगा योग

शिवनगर निवासी रामसिंह दद्दा घर के बच्चों को प्रतिदिन गीता के श्लोकों के साथ योग कराएंगे। इसकी शुरुआत योग दिवस पर हुई। वहीं प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की स्थानीय शाखा लश्कर में ऑनलाइन जुड़कर युवाओं व बहनों ने योग किया। वहीं शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास मध्य भारत प्रांत की ओर से ऑनलाइन व्याख्यान आयोजित किया गया। मुख्य वक्ता एलएनआईपीई के कुलपति डॉ. दिलीप दुरोहा रहे।

Updated : 2020-06-22T06:30:34+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top