Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > आईआरएसडीसी का काम शुरू होने के बाद बनेंगे दो नए प्लेटफार्म

आईआरएसडीसी का काम शुरू होने के बाद बनेंगे दो नए प्लेटफार्म

कोचिंग कॉम्प्लेक्स के लिए मुख्यालय भेजा प्रस्ताव

आईआरएसडीसी का काम शुरू होने के बाद बनेंगे दो नए प्लेटफार्म

ग्वालियर, न.सं.। अनलॉक पार्ट शुरू होने के बाद रेलवे रुक हुए कार्यों को जल्द रफ्तार देगा। ग्वालियर रेलवे स्टेशन को वल्र्ड क्लास बनाने का काम जल्द ही शुरू होने वाला है। इसके लिए रेलवे स्टेशन विकास निगम लिमिटेड (आईआरएसडीसी) ने अपनी ओर से काम करना भी शुरू कर दिया है। लेकिन स्थानीय अधिकारी अब इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि आईआरएसडीसी स्टेशन पर कब से काम की शुरुआत करेगा। क्योंकि ग्वालियर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर चार से माल गोदाम शिफ्ट होने के बाद रेलवे ने इसे संवारने की योजना तैयार की है। रेलवे अधिकारियों के अनुसार रेलवे स्टेशन पर दो नए प्लेटफार्म बनाने के साथ ही कोचिंग यार्ड भी बनाया जाएगा। लेकिन एक और नया प्लेटफार्म बनाना प्रस्तावित है। साथ ही प्लेटफार्म क्रमांक एक के पास बने सैलून साइडिंग से भिंड की ओर जाने वाली व आने वाली ट्रेनों के लिए अलग से प्लेटफार्म बनाने की योजना है।

कोचिंग कॉम्प्लेक्स में कोच का मेंटेनेंस एवं डिपो भी होगा। लेकिन लए मुख्यालय में प्रस्ताव भी भेजा गया है। प्लेटफार्म की संख्या बढऩे से ग्वालियर को नई ट्रेन मिलने की उम्मीद भी बढ़ जाएगी। हालांकि स्टेशन को संवारने के लिए अभी काफी पुराना स्ट्रक्चर भी हटाया जाएगा। यहां बता दें कि ग्वालियर सहित चार रेलवे स्टेशनों नागपुर, अमृतसर और साबरमती के पुनर्विकास और इन्हें सिटी सेंटरों में बदलने के उद्देश्य से, भारतीय रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड को डेवलपर्स से भारी प्रतिक्रियाएं मिली हैं। रेलवे के अनुसार आवेदकों को शॉर्टलिस्ट करने के बाद, रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल आमंत्रित किया जाएगा, जिसमें बोलीदाताओं द्वारा बोली प्रस्तुत की जाएगी। जिसके बाद काम शुरू किया जाएगा।

क्या निर्माण कार्य होंगे

कोचिंग यार्ड-

यहां पर गुडशेड की खाली जगह पर कोचों के मेंटीनेंस के लिए कोचिंग यार्ड बनाया जाएगा। जिसमें दो लाइन और डिपो भी होगा।

नए प्लेटफार्म-

5 एवं 6 नंबर प्लेटफार्म तैयार किए जाएंगे। दो नए प्लेटफार्म बनाने के लिए नैरोगेज की पुरानी लाइन को हटाने की जरूरत पड़ेगी। इससे शहर को कुछ नई ट्रेन मिलने की उम्मीद भी बढ़ जाएगी।

भवन का निर्माण-

बुकिंग कार्यालय एवं आरआरआई कैबिन के लिए आगरा एंड पर एक नई इमारत का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है।

वॉशिंग साइड-

दो वॉशिंग साइड बनाई जाना है। यहां पर ट्रेनों की सफाई का कार्य होता है। दो नई साइड बनने से समय की बचत होगी।

Updated : 2020-07-01T06:30:56+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top