Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > पहले फंसाया, अब धमकी दो करोड़ दो

पहले फंसाया, अब धमकी दो करोड़ दो

पहले फंसाया, अब धमकी दो करोड़ दो
X

ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि। एक जमीन के सौदे में 68 लाख रुपए गंवाने वाले को न सिर्फ धोखाधड़ी के प्रकरण में अंदर करा दिया गया, बल्कि जैसे तैसे वह बाहर आया तो उसे धमकी दी जा रही है कि वह दो करोड़ रुपए दे, अन्यथा उसे फिर से झूठे केस में फंसवाकर अंदर करा दिया जाएगा।

इस आशय का आवेदन न्यू प्रेम नगर चार शहर का नाका हजीरा निवासी प्रेमवती पत्नी जितेंद्र सिंह नरवरिया ने मंगलवार को पुलिस अधीक्षक को जनसुनवाई में दिया है। आवेदन में कहा गया है कि उसके पति जितेंद्र सिंह नरवरिया ने परमाल सिंह नरवरिया पुत्र लक्ष्मण सिंह निवासी ग्राम मऊ भदरौली से दो बीघा भूमि का अनुबंध किया था। यह सौदा उनके भतीजे शिवसिंह उर्फ राकेश नरवरिया पुत्र माधौ सिंह निवासी रजनीगंधा एंक्लेव आस्था पार्क गोला का मंदिर द्वारा कराया गया था। 4 अक्टूबर 2016 को अनुबंध के दौरान 30 लाख, 15 नवंबर 2017 को 22 लाख और अन्य राशि नगद दी गई। परमाल और शिव सिंह ने वादा किया था कि उक्त भूमि जीडीए को समर्पण करने के पश्चात उसके द्वारा भूखंड आवंटित किए जाएंगे। इसके लिए जीडीए से जितेंद्र नरवरिया और परमाल के नाम से पत्र जारी हुआ, किंतु बाद में इस पत्र को बदलवा कर सिर्फ परमाल सिंह के पक्ष में करा लिया गया।

फिर परमाल ने छह भूखंड अवधेश नरवरिया, रामवीर नरवरिया, राम सिंह नरवरिया और अजय सिंह को बेचकर विक्रय पत्र संपादित किए। जिसकी जितेंद्र को खबर तक नहीं हुई। इतना ही नहीं इसके बाद शिव सिंह उर्फ राकेश नरवरिया व परमाल ने पुलिस से मिलकर षड्यंत्र किया और उसे 420 के आरोप में जेल पहुंचवा दिया। जबकि फर्जी आवंटन पत्र के माध्यम से भूखंडों का विक्रय उक्त लोगों ने ही किया था अब वह जेल से बाहर आ गए हैं तो नरवरिया द्वारा उसे धमकी दी जा रही है कि उसके पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों से संबंध हैं, इसलिए दो करोड़ रुपए दो, तभी तुम बच पाओगे। आवेदन के साथ शिव सिंह के कई अधिकारियों के साथ चित्र भी संलग्न कर इस मामले की जांच कराकर कार्रवाई की मांग की गई है।

Updated : 22 July 2020 1:00 AM GMT
Tags:    
author-thhumb

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top