Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > रमेश अग्रवाल और अशोक प्रेमी को मिल सकती है मेला की कमान

रमेश अग्रवाल और अशोक प्रेमी को मिल सकती है मेला की कमान

रमेश अग्रवाल और अशोक प्रेमी को मिल सकती है मेला की कमान
X

ग्वालियर। ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण पिछले पांच वर्षों से भंग है। पिछले पांच वर्षों से मेला प्राधिकरण की कमान प्रशासन के हाथों में है। अब मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने से मेला प्राधिकरण में पदाधिकारियों की नियुक्ति और संचालक मंडल के गठन की उम्मीद जाग गई है। संभवत: कुछ ही दिनों में मेला प्राधिकरण का गठन हो जाएगा। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस के पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल को मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष और अशोक प्रेमी को उपाध्यक्ष पद की कमान मिल सकती है। इन दोनों के नाम विशेष चर्चा में हैं। मेला प्राधिकरण के साथ ही पांच संचालकों की भी नियुक्ति की जाएगी। इसके लिए सिर्फ शासन से हरी झण्डी मिलने की देर है। वहीं चेम्बर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस व्यापार प्रकोष्ठ के सदस्य हैं और वे शहर की तीनों विधानसभाओं के प्रत्याशियों के प्रचार में भी लगे रहे। इस लिहाज से उनका नाम भी किसी पद पर आ सकता है।

यहां उल्लेखनीय है कि उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं संचालकों की नियुक्ति नहीं होने पर उच्च न्यायालय खण्डपीठ ग्वालियर के न्यायमूर्ति विवेक अग्रवाल एवं न्यायमूर्ति संजय यादव की युगलपीठ ने नाराजगी जताते हुए वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के सचिव मो. सुलेमान खान तथा संस्कृति एवं पर्यावरण मंत्रालय के सचिव मनोज श्रीवास्तव को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब मांगा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शीघ्र ही मेला प्राधिकरण में संचालक मंडल का गठन हो जाएगा। अध्यक्ष पद के लिए रमेश अग्रवाल एवं उपाध्यक्ष पद के लिए अशोक प्रेमी के नाम चर्चा में बने हुए हैं। यहां बताना उचित होगा कि अशोक प्रेमी वर्ष 2003 में मेला प्राधिकरण में उपाध्यक्ष पद पर रह चुके हैं। उस समय मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष डॉ. वीरेन्द्र गंगवाल थे।

इनका कहना है:- फोटो लगाना है।

'मैं महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया का सिपाही हूं। महाराज हमें जो भी जिम्मेदारी देंगे, उसे हम निभाएंगे।'

रमेश अग्रवाल

पूर्व विधायक

'मुझे नहीं पता कि मेरा नाम उपाध्यक्ष पद के लिए चल रहा है। ऊपरी नेतृत्व हमें जो भी जिम्मेदारी देगा, उसे हम निभाएंगे।'

अशोक प्रेमी

पूर्व उपाध्यक्ष, मेला प्राधिकरण

Updated : 19 Dec 2018 9:48 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top