Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > ग्वालियर में आउटसोर्स भर्ती घोटाले की जांच में लीपापोती, कर्मचारियों की होगी परेड

ग्वालियर में आउटसोर्स भर्ती घोटाले की जांच में लीपापोती, कर्मचारियों की होगी परेड

ग्वालियर में आउटसोर्स भर्ती घोटाले की जांच में लीपापोती, कर्मचारियों की होगी परेड
X

ग्वालियर,न.सं.। नगर निगम में आउटसोर्स भर्ती घोटाले की जांच जिन अधिकारियों द्वारा की जा रही थी, उन्हीं अधिकारियों ने जांच रिपोर्ट में लीपापोती कर मामले की रिपोर्ट निगमायुक्त को सौंप दी है। जांच रिपोर्ट में सिर्फ 31 कर्मचारियों को बिना निगमायुक्त के अनुमोदन के रखने वाले कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी कर खानापूर्ति कर ली है। वहीं गत सात अप्रैल के बाद रखे गए 61 कर्मचारियों की सेवाएं वापस राज सिक्योरिटी एजेंसी को वापस करने के आदेश भी दिए गए है।अपर आयुक्त मुकुल गुप्ता द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में अब नगर निगम के सभी आउटसोर्स कर्मचारियों की परेड कराई जाएगी।यहां बता दे कि इस मामले में पहले ही दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। जबकि इस मामले में जिन अधिकारियों पर आरोप लगे है उनका सिर्फ तबादला किया गया है। ऐसे में सवाल खड़े हो रहे है कि आखिर दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही।

आउटसोर्स भर्ती घोटाले की जांच के लिए सात सदस्य जांच समिति गठित

नगर निगम में आउटसोर्स भर्ती घोटाले की जांच में अधिकारियों द्वारा बिना स्वीकृति के आउटसोर्स कर्मचारियों को रखा है। इसको लेकर भले ही अपर आयुक्त ने नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा हो, लेकिन इस मामले में महापौर डॉ. शोभा सिकरवार ने इस घोटाले की जांच के लिए 7 सदस्य कमेटी गठित की है। महापौर डॉ शोभा सतीश सिकरवार की अध्यक्षता में गठित इस जांच कमेटी में मेयर इन काउंसिल के सदस्य अवधेश कौरव, नाथूराम ठेकेदार, वित्त विभाग की अपर आयुक्त रजनी शुक्ला, अपर आयुक्त मुकुल गुप्ता, नगर निगम के पूर्व वित्त अधिकारी दिनेश बाथम, विधि विभाग के प्रभारी अनूप लिटोरिया शामिल किए गए हैं।

गांधी जयंती पर घोषित हो सकते हैं स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के परिणाम

ग्वालियर,न.सं.। स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 का परिणाम अक्टूबर के पहले सप्ताह में जारी हो सकता है। संभवत: 2 अक्टूबर को शहरी आवास मंत्रालय पुरस्कारों की घोषणा कर सकता है। इस बार सर्वेक्षण के लिए 7500 अंक निर्धारित किए हैं। सेवन स्टार रैंकिंग व स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणाम एक ही दिन जारी किए जाएंगे। इसके संकेत भी निगमायुक्त किशोर कान्याल ने गुरुवार को दिए है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा है कि पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार स्वच्छता की रैकिंग में सुधार होगा। वर्ष 2021 में ग्वालियर स्वच्छ रैंकिंग में 42वें पायदान पर था। इस बार शीर्ष 10 में ग्वालियर के शामिल होने की उम्मीद जताई जा रही है। नगर निगम अधिकारियों का दावा है कि डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन और साफ-सफाई में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए जो अंक मिलने की उम्मीद है, उससे पिछले साल की रैंकिंग में इस बार सुधार होगा।

Updated : 2022-09-24T22:18:10+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top