Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > शिक्षक होना मां होने के समान है

शिक्षक होना मां होने के समान है

शिक्षक होना मां होने के समान है
X

ग्वालियर/न.सं.भारतीय शिक्षण मंडल द्वारा मध्य भारत शिक्षा समिति के सार्वजनिक एवं पार्वतीबाई गोखले उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों के लिए तीन दिवसीय शिक्षक स्वाध्याय श्रंखला का शुभारंभ रविवार को हुआ। प्रस्तावना समिति अध्यक्ष नरेंद्र कुंटे ने रखी और उन्होंने कहा कि शिक्षक मां के समान बच्चों के जीवन का निर्माण करता है और उसे समाज में योगदान योग्य बनाता है। जीवन की विपरीत परिस्थितियों में भी अटल व दृढ़ रहकर अपने स्वत्व को प्रकट करने का प्रशिक्षण एक शिक्षक ही अपने विद्यार्थी को देता है। उन्होंने कहा कि वह केवल कक्षा शिक्षक, विषय शिक्षक नहीं तो समाज शिक्षक और शब्द शिक्षक भी होता है। श्रीमती आरती वझे ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

इस अवसर पर समिति के मोहन अकोलकर, कल्याणसिंह कौरव, प्राचार्य नरेंद्र अग्रवाल, श्रीमती अल्पना करकरे, जितेंद्र आदि उपस्थित रहे। संचालन भारतीय शिक्षण मंडल के प्रांत मंत्री पंकज ने किया।

Updated : 2019-04-01T00:30:25+05:30

Naveen Savita

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top