Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > न्यायालय में रोते हुए बोली प्रीति मेरे मृदुल को बचा लो जज साहब

न्यायालय में रोते हुए बोली प्रीति मेरे मृदुल को बचा लो जज साहब

न्यायालय में रोते हुए बोली प्रीति मेरे मृदुल को बचा लो जज साहब
X

तीन दिन की रिमांड पर आरोपी, होगी और पूछताछ

ग्वालियर/न.सं.। जज साहब मेरे पति हेमंत की हत्या मृदुल गुप्ता ने मेरे कहने पर की थी, उसका कोई कसूर नहीं है। जज साहब उसे बचा लो। न्यायालय में पेशी के दौरान प्रीति ने रोते हुए जब यह बात कही तो समूचे परिसर में मौजूद लोग सन्न रह गए। पुलिस दोनों को तीन दिन की रिमांड पर लेकर हत्या के संबंध में और पूछताछ करेगी।

शांति मोहन रेसीडेंसी में हेमंत जैन की जिस ढंग से पत्नी प्रीति ने योजनाबद्ध ढंग से प्रेमी के साथ मिलकर हत्या को अंजाम दिया था, उसके मन में कोई भी मलाल नहीं है। इसका उदाहरण उस समय देखने को मिला जब पुलिस ने उसे न्यायालय में पेश किया। न्यायालय में भी उसके चेहरे पर तनिक भी किसी बात का मलाल नहीं था। जज के सामने चीखकर रोते हुए उसने कहा कि मेरे मृदुल को बचा लो, उसने कुछ नहीं किया। उसने तो मेरे बोलने पर ही यह सब किया था। प्रीति के बेवाक बोल सुनकर कक्ष में मौजूद सभी लोग हैरान रह गए। हत्या वाले दिन से प्रीति अपने प्रेमी मृदुल को बचाने के लिए कई तरह की हरकतें कर रही है। प्रेमी के साथ मिलकर बेकसूर पति हेमंत जैन की हत्या करने के बाद उसने अपने फ्लैट पर भी नौटंकी करते हुए कभी रोने तो कभी बेहोश होने का तमाला करती रही। वह बीच-बीच में आत्महत्या करने की भी नौटंकी कर रही थी। पुलिस ने प्रेमी मृदुल के साथ प्रीति को तीन दिन की रिमांड पर ले लिया है।

मृदुल को बचाने के लिए महिला थाने में प्रीति ने पुलिस से कहा था कि उसे बचा लो मैं उसके साथ रहना चाहती हूँ। उसका बेशर्म रूप देखकर सब हैरान है और उसके इस व्यवहार से दंग भी है। वह इतनी बैखौफ है कि न्यायालय में भी वह चिल्ला-चिल्लाकर कह रही थी कि उसको बचा लो। उसे अपने पत्नी की हत्या का जरा भी तनाव नहीं है और वह खुलकर अपने आशिक को बचाने में जुटी हुई है।

Updated : 2019-03-21T10:36:00+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top