Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > 96 घण्टे बाद आठ घण्टे के लिए खुला बाजार, 45 करोड़ का हुआ कारोबार

96 घण्टे बाद आठ घण्टे के लिए खुला बाजार, 45 करोड़ का हुआ कारोबार

बाजारों में रहा अफरा-तफरी का माहौल, जगह-जगह लगे जाम

96 घण्टे बाद आठ घण्टे के लिए खुला बाजार, 45 करोड़ का हुआ कारोबार
X

ग्वालियर, न.सं.। 96 घण्टे के बाद प्रशासन द्वारा आठ घण्टे के लिए बाजार खोले जाने के आदेश जारी करने के बाद बुधवार को शहर में लगभग 45 करोड़ रुपए का कारोबार हुआ है। समय की सीमितता को लेकर सुबह 11 बजे के बाद शहर के सभी बाजारों में जबरदस्त अफरा-तफरी का माहौल हो गया। इस दौरान शहर में जगह-जगह जाम की स्थिति बनी रही, जिससे आमजन को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।



शहर के लगभग कई बाजार सुबह 6 बजे से ही खुल गए थे। फुटपाथ व सड़कों पर दुकानें सज गई थीं। सामान खरीदने के लिए शहर में सुबह से ही लोगों की जबरदस्त भीड़ उमड़ पड़ी। इसमें फुटकर व थोक किराना खरीदने के लिए लोग पहुंच गए। हालात दोबारा खराब न हो जाए इसलिए लोगों ने आवश्यकता से अधिक सामान की खरीदारी की। इस दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के एक भी नियम का पालन नहीं किया गया।



जाम ने किया सबसे अधिक परेशान

बुधवार को सामान खरीदने के लिए हजारों-लाखों लोग एक साथ निकल पड़े। सभी को डर यह था कि बाजार दो बजे बंद हो जाएंगे और पता नहीं कि कल से बाजार खुलेगा भी या नहीं। इस दृष्टि से भीड़ और अधिक बढ़ती चली गई। धीरे-धीर हालत यह हो गए कि शहर की सड़कों पर लंबा जाम लगना शुरू हो गया और लोगों को वहां से निकलने के लिए भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। शहर में सबसे खराब हालत दाल बाजार, नया बाजार, इन्दरगंज, जयेन्द्रगंज, छत्री और दौलतगंज आदि क्षेत्रों में रही। सुबह के समय फुटपाथों पर भी सामान खरीदने वालों की जबरदस्त भीड़ रही। हर कोई जल्दी-जल्दी सामान लेने की कोशिश कर रहा था। दोपहर दो बजे के बाद बाजारों में भीड़ कम होना शुरू हो गई और सब कुछ सामान्य हो गया। दिन के समय जिन सड़कों पर निकलने तक को जगह नहीं थी, शाम के समय वह सड़कें सूनी हो गईं।


महंगी सब्जी खरीदने से बचने के लिए लोग पहुँचे मण्डी

सब्जी के दाम बहुत बढ़े हुए हैं। इसलिए लोग बुधवार को सस्ती सब्जी खरीदने के लिए मण्डी में पहुँच गए। जिससे हुजरात मण्डी, छत्री मण्डी और लक्ष्मीगंज सब्जी मण्डी में भी एक साथ लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। यही हाल फल मण्डी का भी रहा, जो गाडिय़ां मण्डी में नहीं घुस पाईं उन्होंने मण्डी के बाहर खड़े होकर ही सब्जी बेच डाली।

Updated : 2020-07-09T06:30:40+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top