Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > माधव अंध आश्रम में बासी खाना परोसने पर छात्रों का हंगामा

माधव अंध आश्रम में बासी खाना परोसने पर छात्रों का हंगामा

शादी समारोह से आया था बीती रात खराब खाना, छात्रों को जबरन खिलाने की कोशिश, सुबह छात्रों को नहीं मिला नाश्ता, नहीं लगी क्लास, छात्रों ने किया हंगामा, प्रशासन में स्थिति संभाली

ग्वालियर। प्रबंधन की मनमानी और छात्रों की परेशानी को लेकर माधव अंध आश्रम हमेशा ही चर्चा में बना रहता है। इस बार छात्रों ने प्रबंधन पर बासी खाना परोसने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। छात्रों की माने तो बीती रात एक शादी समारोह से आया खाना उन्हें परोसा गया। छात्रों ने जैसे ही उसे खाया उन्हें स्वाद खराब लगा तो उन्होंने उसे खाने से मना कर दिया। जिसके बाद बच्चों पर वही खाना खाने का दबाव बनाया गया लेकिन बच्चों ने मना कर दिया। फिर उनके लिए दूसरे खाने की व्यवस्था की गई।

आज सुबह जब छात्र सोकर उठे तो आश्रम में उनके नाश्ते की कोई व्यवस्था नहीं थी और उनके स्कूल की क्लास भी नहीं लगी। इस बात से छात्र भड़क गए और उन्होंने हंगामा कर दिया। और खाने के बहिष्कार की भी घोषणा कर दी। हंगामे की खबर सुनकर आश्रम स्टाफ वहां पहुँच गया और छात्रों को मनाने का प्रयास करने लगा। छात्र पहले आश्रम के अंदर आँगन में ही हंगामा करते रहे बाद में वो आश्रम के बाहर पहुँच गए और उन्होंने जमकर अधीक्षिका मंजू सेंगर और अन्य स्टाफ की शिकायत की। छात्रों ने कहा यहाँ क्लासेस समय पर नहीं लगती, उनकी जरूरतों का भी ध्यान नहीं रखा जाता। कोई समस्या बताओ तो मंजू मैडम उसे ठीक करने की जगह उन्हें ही डांटती हैं, वे अधीक्षिका मंजू सेंगर को हटाने की मांग कर रहे थे। उधर प्रबंधन ने छात्रों के आरोप को नकार दिया । नेत्रहीन दिव्यांग छात्रों हंगामे की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अमला भी वहां पहुँच गया उन्होंने छात्रों को भरोसा दिया कि वे नियमानुसार कार्रवाई करेंगे। प्रशानिक अधिकारियों ने नेत्रहीन दिव्यांग छात्रों को आश्रम के अंदर भेज दिया। बाद में अधिकारियों ने माधव अंध आश्रम की अधीक्षिका मंजू सेंगर को वहां से हटा दिया है। तब जाकर मामला शांत हुआ।

Updated : 9 Jan 2019 8:37 AM GMT
Tags:    

Atul Saxena

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top