Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > राम मंदिर : कांग्रेस नेताओं ने किया समर्थन, पूर्व मंत्री जयभान सिंह ने कसा तंज

राम मंदिर : कांग्रेस नेताओं ने किया समर्थन, पूर्व मंत्री जयभान सिंह ने कसा तंज

राम मंदिर : कांग्रेस नेताओं ने किया समर्थन, पूर्व मंत्री जयभान सिंह ने कसा तंज

ग्वालियर। हिन्दुओं की आस्था का प्रतीक माने जानें वाले राममंदिर का निर्माण कार्य भूमिपूजन के साथ जल्द शुरू होने वाला है। आगामी 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमिपूजन कर निर्माण कार्य को शुरू करेंगे। भूमिपूजन कार्यक्रम से पहले मंदिर निर्माण को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस नेताओं की सोच राममंदिर निर्माण को लेकर बदली हुई नजर आ रही है। प्रदेश में एक के बाद एक कांग्रेस नेताओं के राममंदिर के समर्थन में बयान से सभी को हैरान कर दिया है।

इसी कड़ी में अब राममंदिर आंदोलन से जुड़े रहे भाजपा के कद्दावर नेता जयभान सिंह पवैया ने कांग्रेस नेताओं पर जुबानी हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा " श्री राम मंदिर निर्माण के लिए कांग्रेसियों का समर्थन या विरोध का अब मायना ही क्या है। फैसला आने के पहले इनमें से कौन ऐसा माई का लाल है, जिसने राम मंदिर गर्भ गृह पर ही बनने का दावा किया हो। आतंकियों के वध पर रोने वाले आप कार सेवकों के बलिदान पर एक शब्द भी नहीं बोले थे।

:


गौरतलब हैं की राममंदिर निर्माण के लिए भाजपा एवं इसके नेता लंबे समय तक आंदोलन से जुड़े रहें है। वहीँ कानूनी प्रक्रिया से लेकर अब तक कांग्रेस पार्टी के नेता मौन ही नजर आये। अब सभी बाधाओं के दूर होने के बाद राममंदिर निर्माण का स्वागत कर रहे है। बता दें की कल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा था की "मैं अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का स्वागत करता हूँ। देशवासियों को इसकी बहुत दिनों से अपेक्षा और आकांक्षा थी। राम मंदिर का निर्माण हर भारतवासी की सहमति से हो रहा है,ये सिर्फ भारत में ही संभव है।"

इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अभी आज एक के बाद एक तीन ट्वीट कर राममंदिर निर्माण का स्वागत किया है। दिग्विजय ने लिखा - "रामहि केवल प्रेम पिआरा, जानि लेउ जो जान निहारा" अर्थात भगवान श्रीराम को केवल प्रेम ही प्यारा है जो जानने वाला हो(जानना चाहता हो) वह जान ले।"हमारी आस्था के केंद्र भगवान राम ही हैं, और आज समूचा देश भी राम भरोसे ही चल रहा है। इसीलिए हम सबकी आकांक्षा है कि जल्द से जल्द एक भव्य राम मंदिर अयोध्या में राम जन्म भूमि पर बने और राम लला वहाँ विराजें। स्व राजीव गांधी जी भी यही चाहते थे।"



Updated : 2020-08-01T22:56:55+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top