Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > कमलनाथ मुझे बैठने के लिए कुर्सी नहीं देते थे - मंत्री इमरती देवी

कमलनाथ मुझे बैठने के लिए कुर्सी नहीं देते थे - मंत्री इमरती देवी

कमलनाथ मुझे बैठने के लिए कुर्सी नहीं देते थे - मंत्री इमरती देवी
X

ग्वालियर। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुई महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने कांग्रेस पार्टी पर बड़ा आरोप लगाते हुए बयान दिया है। मंत्री इमरती देवी ने कहा कांग्रेस पार्टी के नेता सामंती विचारधारा के हैं और जातिगत भेदभाव करते हैं।

उन्होंने पूर्व सीएम कमलनाथ पर आरोप लगाते हुए कहा की जब वह मुख्यमंत्री और मैं उनके मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री थी। उस समय वह मुझे बैठने के लिए कुर्सी नहीं देते थे, क्योंकि मैं अनुसूचित जाति वर्ग से हूं।उन्होंने पूर्व मुख्य मंत्री कमल नाथ से सवाल किया कि कांग्रेस स्वयं को वोटों के खातिर स्वयं को दलित हितैषी बता रही है। अगर उन्हें इस वर्ग की इतनी चिंता थी तो सवां साल में 2 अप्रैल की हिंसा में दर्ज हुए प्रकरण वापस क्यों नहीं लिए? कांग्रेसी यदि दलित हितैषी है तो फूल सिंह बरैया को राज्यसभा में क्यों नहीं भेजा। दिग्विजय सिंह के स्थान पर फूल सिंह बरैया को राज्यसभा क्यों नहीं भेजा? गुना की घटना के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान तत्काल एक्शन लेते हुए एडीजीपी, कलेक्टर व एसपी को हटा दिया है। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए उच्चस्तरीय कार्रवाई की जा रही है।

मंत्री इमरती देवी गुना में पुलिस द्वारा दलित परिवार की पिटाई के मामले में भाजपा पर दलित विरोधी होने के आरोपों का जवाब दे रहीं थीं। इमरती देवी ने कहा कि अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग पूरी तरह से भाजपा के साथ है। भाजपा ने वास्तविकता में अनुसूचित वर्ग के हित में कई कार्य किए हैं। इसका प्रमाण उपचुनाव में सभी को मिल जाएगा। उन्होंने बताया कि अनुसूचित वर्ग के लिए डबरा में 1 हजार आवासों का निर्माण किया जा रहा है।



Updated : 17 July 2020 10:14 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top