Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > दिन भर तरसाने के बाद शाम को जोरदार अंदाज में बरसी काली घटाएं

दिन भर तरसाने के बाद शाम को जोरदार अंदाज में बरसी काली घटाएं

ग्वालियर के ऊपर से ही गुजर रही है मानसून द्रोणिका

दिन भर तरसाने के बाद शाम को जोरदार अंदाज में बरसी काली घटाएं
X

ग्वालियर, न.सं.। मानसूनी परिस्थितियां अब अनुकूल बनती नजर आ रही हैं, जिससे पिछले तीन दिनों से अंचल में कहीं हल्की तो कहीं मध्यम गति से बारिश हो रही है। इसी क्रम में मंगलवार की शाम को ग्वालियर शहर में लगभग एक घंटे तक जोरदार अंदाज में बारिश हुई। इसके बाद देर शाम तक हल्की बूंदाबांदी होती रही। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान भी बारिश की संभावना जताई है।

मंगलवार को सुबह से दोपहर बाद तक बादल बिखरे होने की वजह से कभी तेज तो कभी हल्की धूप खिली रही। इसके चलते गर्मी चरम पर थी, लेकिन शाम करीब साढ़े चार बजे से मौसम ने करवट बदली और काली घटाएं छा गईं। शाम करीब पांच बजे के बाद बूंदाबांदी शुरू हो गई। लगभग दस मिनट तक चली हल्की बूंदाबांदी के बाद देखते ही देखते झमाझम बारिश शुरू हो गई, जो शाम करीब छह बजे तक जारी रहा। इसके बाद देर शाम तक हल्की बूंदाबांदी होती रही।

भोपाल के सेवानिवृत्त मुख्य मौसम विज्ञानी डी.पी. दुबे के अनुसार राजस्थान के बीकानेर, जयपुर, मध्यप्रदेश के ग्वालियर, उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश, जमशेदपुर, कंटाई और उसके बाद दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तर-पूर्वी बंगाल की खाड़ी तक 0.9 किलोमीटर की ऊंचाई पर एक मानसूनी द्रोणिका बनी हुई है। इसके साथ ही उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश और उससे सटे उत्तर प्रदेश के इलाकों तक एक निम्न दाब का क्षेत्र बना हुआ है। इसका सबसे ज्यादा असर ग्वालियर-चम्बल में ही है। इसी के चलते बारिश हो रही है। हालांकि निम्न दाब का क्षेत्र ज्यादा मजबूत (स्ट्रोंग) नहीं है, लेकिन फिर भी इन दोनों सिस्टमों के प्रभाव से अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर व चम्बल अंचल में कहीं हल्की तो कहीं मध्यम गति से बारिश होने की संभावना है। श्री दुबे ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में आगामी 17 अगस्त को एक और कम दबाव का क्षेत्र बनेगा, जिसके असर से भी ग्वालियर-चम्बल में अच्छी बारिश की उम्मीद है।

तापमान सामान्य से तीन डिग्री ऊपर

मौसम विभाग के अनुसार दिन में धूप खिली रहने की वजह से पिछले दिन की तुलना में मंगलवार को अधिकतम तापमान 0.9 डिग्री सेल्सियस वृद्धि के साथ 35.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 3.1 डिग्री सेल्सियस अधिक है, जबकि न्यूनतम तापमान 0.2 डिग्री सेल्सियस आंशिक वृद्धि के साथ 27.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 1.8 डिग्री सेल्सियस अधिक है। आज हवाएं दक्षिण-पश्चिमी चलीं, जिनकी गति दो से चार किलो मीटर प्रति घंटा रही। आज सुबह हवा में नमी 88 प्रतिशत दर्ज की गई, जो सामान्य से आठ प्रतिशत अधिक है, जबकि शाम को हवा में नमी 77 प्रतिशत दर्ज की गई। यह भी सामान्य से दो प्रतिशत अधिक है।

Updated : 12 Aug 2020 1:00 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top