Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > गौशाला का आंधी में टीनशेड उखड़ा, नंदी हो रहे घायल

गौशाला का आंधी में टीनशेड उखड़ा, नंदी हो रहे घायल

नई गौशाला के टेंडर हुए, लेकिन अभी तक नहीं मिली स्वीकृति

गौशाला का आंधी में टीनशेड उखड़ा, नंदी हो रहे घायल
X

ग्वालियर, न.सं.। लाल टिपारा स्थित गौशाला में तीन दिन पहले आई आंधी ने भारी क्षति पहुंचाई। आंधी की वजह से टीनशेड उड़ गया, जिससे कई नंदी घायल भी हो गए हैं। इस वजह से अब गौशाला में परेशानी खड़ी हो गई। दरअसल शेड न होने से लगभग 2000 नंदी खुले में खड़े होने को मजबूर हैं। श्रीकृष्णायन देशी गौ रक्षा शाला के संतों ने इस मामले की जानकारी निगम अधिकारियों को भी दी। लेकिन तीन दिन बाद भी यहां व्यवस्था नहीं हो सकी है।

उल्लेखनीय है कि गत 31 मई की शाम को आई तेज आंधी से लाल टिपारा में गोवंश के लिए आसरा बनी गौशाला का टीनशेड उड़ गया, जिसके कारण गायों का भूसा भी बारिश से भीग गया। इस टीनशेड से कई नंदी को चोटे भी आई हैं। हालत यह है कि टीनशेड न होने से अब आपस में नंदी लड़ रहे हैं, जिसके चलते अन्य गौवंश को खतरा बना हुआ है। शहर की एकमात्र इस गौशाला में रोज गोवंश पकड़कर पहुंचाई जा रही हंै। वर्तमान में गौशाला में तीन हजार गायें रखने की जगह है। शहर से पकड़ी जाने वाली गायों के पहुंचने से यहां गायों की संख्या पांच हजार तक पहुंच गई है। इस वजह से गायों को रखने में गौशाला प्रबंधन को परेशानी हो रही हैं। प्रबंधन की मांग पर नगर निगम ने जिला प्रशासन से गौशाला का दायरा बढ़ाने के लिए जमीन मांगी थी। जिस पर प्रशासन ने 35 बीघा जमीन निगम को आवंटित कर दी थी। लेकिन अभी तक इस जमीन पर कोई भी काम दिखाई नहीं दे रहा है।

नई बाउंड्रीवॉल के लिए नहीं दिए वर्क आर्डर-

नगर निगम में ऐसे ही कुछ अधिकारी हं,ै जिन्हें गाय और गो सेवा से कोई मतलब नहीं है। वह सिर्फ दिखावा कर रहे हैं। तत्कालीन निगमायुक्त विनोद शर्मा ने लाल टिपारा के पास जमीन पर गौशाला के डेढ़ करोड़ के कार्य स्वीकृत किए थे। जिसमें टेंडर होने के बाद भी ठेकेदार काम चालू नहीं कर रहे हैं। वजह यह है कि निगमायुक्त द्वारा फाइल को स्वीकृत नहीं किया गया है। जिसके चलते टीन शेड, खनौटा, नई बाउंड्री वॉला का निर्माण कार्य रुका हुआ है।

फिर हो सकता है चक्काजाम-

गौशाला की हालत को लेकर संत समाज में आक्रोषित है। संतों का कहना है कि तीन दिन से टीनशेड जैसे के तैसे पड़े हैं, लेकिन अधिकारी इस ओर कोई भी ध्यान नहीं दे रहे है। अगर यही हाल रहा है, तो सड़क पर उतरकर वह अपना विरोध दर्ज कराएंगे।

लाल टिपारा गौशाला की अव्यवस्थाओं को लेकर स्वामी अच्युतानंद जी महाराज से चर्चा हुई है। गुरुवार को सुबह 9 बजे गौशाला का भ्रमणकर व्यवस्थाएं सुधारी जाएंगी।

-संदीप माकिन

आयुक्त, नगर निगम

Updated : 2020-06-05T14:46:09+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top