Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > कर्मचारियों के अभाव में जिले की आपातकालीन सेवा हो रही प्रभावित

कर्मचारियों के अभाव में जिले की आपातकालीन सेवा हो रही प्रभावित

ऊर्जा मंत्री की मांग पर लाई कई एम्बुलेंस का भी नहीं हो रहा संचालन

कर्मचारियों के अभाव में जिले की आपातकालीन सेवा हो रही प्रभावित
X

ग्वालियर, न.सं.। प्रदेश सहित जिले में एम्बुलेंस और जननी एक्सप्रेस का संचालन कर रही जय अंबे इमरजेंसी सर्विस कंपनी शुरुआत में ही लडखड़ाने लगी है। कम्पनी एम्बुलेंस के संचालन के लिए कर्मचारी तक उपलब्ध नहीं करा पा रही है। जिस कारण शासन से उपलब्ध कराई गई लाखों की एम्बुलेंस धूल खा रही है और जरूरतमंदों को समय पर मदद नहीं मिलना मुस्किल हो रहा है। जिसमें ऊर्जा मंत्री की मांग पर लाई गई एम्बुलेंस भी एक माह से रखी हुई है।

दरअसल जय अंबे इमरजेंसी सर्विस कंपनी द्वारा 1 मई से जिले में 108 एम्बुलेंस सेवा की शुरूआत की गई थी। शुरूआत से ही कम्पनी द्वारा एम्बुलेंस के लिए पर्याप्त स्टाफ उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। जिस कारण शासन द्वारा कम्पनी को

जिले के लिए उपलब्ध कराई गईं 24 एम्बुलेंस में से सिर्फ 21 का ही संचालन हो रहा है। इसमें एक एम्बुलेंस कम्पू थाने व दूसरे कांचमील क्षेत्र में रखी हुई है। इतना ही नहीं उक्त एम्बुलेंसों पर अभी तक नम्बर तक नहीं चढ़े हैं। जबकि जिले में एम्बुलेंस की कमी के कारण जरूरतमंदों को समय पर एम्बुलेंस भी नहीं मिल पाती।

गोले का मंदिर लोकेशन हुई ऑफ रोड

गोले का मंदिर लोकेशन पर खड़ी होने वाली एम्बुलेंस की बात करें तो यह ऑफरेड़ है। कम्पनी के अधिकारियों का कहना है कि उक्त एम्बुलेंस कन्डम हो गई है, जिस कारण गोले का मंदिर लोकेशन ऑफ रोड है। शासन से एम्बुलेंस मिलने के बाद पाइंट शुरू कर दिया जाएग।

ड़बरा के लिए आई एम्बुलेंस कम्पू थाने में खड़ी

ड़बरा के लिए शासन द्वारा एडवांस लाइफ सर्पोट एम्बुलेंस उपलब्ध कराई गई थी। लेकिन यह एम्बुलेंस पिछले करीब 20 दिनों से कम्पू थाने में खुले में ही रखी हुई है। कम्पनी के अधिकारियों का कहना है कि उक्त एम्बुलेंस में कुछ उपकरण आना रह गए थे, जो आ गए हैं और जल्द ही एम्बुलेंस चालू कर दी जाएगी।

मंत्री की मांग पर पाताली हनुमान पर आई थी एम्बुलेंस

हजीरा क्षेत्र में 108 एम्बुलेंस की कमी को देखते हुए ऊर्जा मंत्री प्रदुमन सिंह तोमर द्वारा पाताली हनुमान पर एम्बुलेंस का पाइंट बनाने के निर्देश दिए थे। इस पर शासन द्वारा पाताली हनुमान पर एम्बुलेंस भी एक माह पूर्व उपलब्ध करा दी गई, लेकिन यह एम्बुलेंस भी एक कर्मचारी के घर पर ही रखी हुई है। अधिकारियों का कहना है कि एम्बुलेंस का जीपीएस ठीक से काम नहीं कर रहा है, जिसे जल्द सही करा कर एम्बुलेंस शुरू कर दी जाएगी।

कर्मचारियों को नहीं मिल रहा अवकाश

एम्बुलेंस के कर्मचारियों का कहना है कि कम्पनी द्वारा जो स्टाफ उपलब्ध कराया गया है, वह पर्याप्त नहीं है। जिस कारण उन्हें सप्ताहिक अवकाश तक नहीं दिया जा रहा है। ऐसे में अगर जल्द स्टाफ उपलब्ध नहीं कराया गया तो कर्मचारी विरोध दर्ज कराएंगे।

स्टेशन से भी हटाई एम्बुलेंस

रेलवे के अधिकारियों की मांग पर कम्पनी द्वारा एक एम्बुलेंस स्टेशन पर उपलब्ध कराई गई है। उक्त एम्बुलेंस के लिए पाइंट भी स्टेशन को ही बनाया है। लेकिन रेलवे के अधिकारियों ने जब एम्बुलेंस के कर्मचारियों को रूकने के लिए कोई जगह नहीं दी तो एम्बुलेंस का पाइंट भी बदल दिया गया। इसलिए अब स्टेशन की एम्बुलेंस बाल भवन के पास खड़ी होती है। इतना ही नहीं 108 के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों के रूकने के लिए जगह उपलब्ध कराने की बात भी कही, लेकिन रेलवे से जगह देने से स्पष्ट इंकार कर दिया।

एम्बुलेंस का संचालन क्यों नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में कम्पनी के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर एम्बुलेंस शुरू कराई जाएंगी।

आई.पी. निवारिया

नोडल अधिकारी 108 एम्बुलेंस


Updated : 13 Aug 2022 5:57 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top