Latest News
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > ग्वालियर में शुरू हुआ चुनाव प्रचार, बुजुर्ग के छू रहे पैर, हमउम्र मतदाता को लगा रहे गले

ग्वालियर में शुरू हुआ चुनाव प्रचार, बुजुर्ग के छू रहे पैर, हमउम्र मतदाता को लगा रहे गले

ग्वालियर में शुरू हुआ चुनाव प्रचार, बुजुर्ग के छू रहे पैर, हमउम्र मतदाता को लगा रहे गले
X

ग्वालियर,न.सं.। नगरीय निकाय चुनाव में पार्षद बनने के लिए उतरे प्रत्याशियों ने घर-घर दस्तक देना शुरू कर दिया है। 12 दिन तक प्रत्येक वार्ड में चुनावी शोर रहेगा। बुजुर्ग मतदाताओं का पैर छूकर तो हम उम्र को गले मिलकर प्रत्याशी अपने लिए वोट मांग रहे हैं। ज्यादातर वार्ड पोस्टर-बैनर से पट गए हैं।

नामांकन वापसी के बाद सभी प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिया गया। इसके साथ ही राजनीतिक दल तथा निर्दलीय प्रत्याशियों ने चुनावी अभियान तेज कर दिया। प्रत्याशियों ने अपने समर्थकों के साथ बैठक कर पहले चुनावी प्रचार-प्रसार की रूपरेखा तैयार की, तदुपरांत मोहल्ले में घर-घर जाकर मतदाताओं से मुलाकात कर रहे हैं। इसके साथ ही प्रत्याशी वार्ड के उन स्थानों पर पहले जोर दे रहे हैं, जहां उन्हें कम वोट मिलने की संभावना है। ऐसे स्थान के मतदाताओं को पहले अपने पक्ष में मनाने की योजना पर ज्यादा काम किया जा रहा है। चुनाव प्रचार-प्रसार अभियान 4 जुलाई की शाम तक लगातार जारी रहेगा, राजनीति पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों ने नामांकन स्वीकृत होने के साथ ही पैंफलेट छपाना शुरू कर दिया था। कार्यकर्ताओं ने घर-घर पैंफलेट डालकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराना शुरू कर दिया है। वहीं निर्दलीय प्रत्याशियों ने चुनाव चिन्ह मिलने के बाद पैंफलेट व पोस्टर छपवा लिए हैं और वे भी मैदान में उतर आए हैं।

मतदाताओं को रिझाने अपनाए जा रहे कई उपाय

प्रत्याशियों ने चुनावी अभियान के साथ ही मतदाताओं को रिझाने हर संभव प्रयास शुरू कर दिया है। कहीं पार्टी का दौर चल रहा है, तो कहीं मतदाताओं के लिए पिकनिक की व्यवस्था की जा रही है। स्थिति यह है कि मतदाताओं की मंशा अनुरूप कुछ वार्ड में तो गुपचुप-चाट का भी इंतजाम प्रत्याशियों ने कर दिया है। मतदाता भी किसी प्रत्याशी को नाराज नहीं करना चाह है और हर कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं।

हर वार्ड में जीत-हार की अटकलें

नाम वापसी के बाद वार्डों में प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट हो गई। अभी चुनाव प्रचार अभियान ठीक से तेज भी नहीं हुआ है, पर मतदाताओं के बीच जीत-हार की समीक्षा होने लगी। लोग अपने ही वार्ड का नहीं बल्कि दूसरे वार्ड की भी समीक्षा कर कयास लगाने लगे हैं कि किस वार्ड में कौन सा प्रत्याशी मजबूत है और कौन किसका वोट काट सकता है। हालांकि वास्तविक स्थिति परिणाम सामने आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगी।

Updated : 2022-06-27T18:41:32+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top