Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > ग्वालियर : चिकित्सक, नर्स, रेंजर व सैलून संचालक सहित 25 संक्रमित

ग्वालियर : चिकित्सक, नर्स, रेंजर व सैलून संचालक सहित 25 संक्रमित

कोरोना का बिस्फोट, 400 के पार पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा

ग्वालियर : चिकित्सक, नर्स, रेंजर व सैलून संचालक सहित 25 संक्रमित

ग्वालियर, न.सं.। मुरैना व भिण्ड के बाद अब ग्वालियर में भी कोरोना का विस्फोट हुआ है। मंगलवार को आई जांच रिपोर्ट में एक साथ 25 संक्रमित सामने आए। इसमें जयारोग्य चिकित्सालय के चिकित्सक के पिता, नर्स, सैलून संचालक, किराना दुकान संचालक, ठेले वाले भी शामिल हैं। इन मरीजों के आने से जिले में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 413 पहुंच गया है। जिसको लेकर अब प्रशासन में हड़कम्प मचा हुआ है। क्योंकि इन लोगों ने कई लोगों को संक्रमण फैलाया होगा, जिन्हें खोजने में अब प्रशासन को कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी।

गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय व जिला अस्पताल की लैब में मंगलवार को 908 की जांचे की गईं। जांच में कुल 25 संक्रमित सामने आए हैं। हरीशंकर पुरम निवासी जयारोग्य चिकित्सालय के ईएनटी विभाग में पदस्थ वरिष्ठ चिकित्सक के 69 वर्षीय बुजुर्ग पिता गत दिवस बरुआ सागर से लौटे हैं। चिकित्सक ने बताया कि पिता को बुखार आ रहा था। इसलिए उन्होंने पिता की जांच कराई है। चिकित्सक के घर में कुल चार सदस्य है और चिकित्सक खुद भी मंगलवार को जयारोग्य गए थे।

चिकित्सक अस्पताल के अन्य चिकित्सकों सहित स्टॉफ के सम्पर्क में भी रहे हैं। गुढ़ी-गुढ़ा नाका किरार नगर में किराए के मकान में रहने वाली 27 वर्षीय स्टॉफ नर्स जयारोग्य के कार्डियोलॉजी में पदस्थ है। नर्स ने बताया कि उन्हें पिछले छह दिनों से बुखार आ रहा है। इसलिए उन्होंने अपनी जांच कराई है। नर्स ने शनिवार तक ड्यूटी भी की है। इस दौरान वह कई चिकित्सकों व स्टॉफ के सम्पर्क में रही है। इन मरीजों के आने के बाद जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 413 पहुंच गई है। इसमें चार की मौत हो चुकी है।

मंगलवार की शाम तक खोला शैलून

घासमण्डी निवासी 19 वर्षीय युवक की हजीरा स्थित चार शहर का नाका रोड पर शैलून की दुकान है। युवक ने पूल सैंपलिंग के लिए लगे शिविर में अपना नमूना दिया था। रिपोर्ट में युवक को संक्रमण निकला है। युवक ने बताया कि उसके शैलून पर प्रतिदिन करीब 30 लोग आते हैं। इतना ही नहीं युवक ने मंगलवार की शाम 7 बजे तक शैलून खोला है। इसलिए युवक के सम्पर्क में कई लोग आए होंगे।

शादी में शामिल हुई संक्रमित महिला

भिण्ड निवासी 37 वर्षीय संक्रमित महिला ग्वालियर अपने परिचित के यहां शादी में 26 व 27 जून को शामिल हुईं थी। महिला ने बताया कि शादी में शामिल होने के बाद से ही उन्हें बुखार आ रहा था। इसलिए वह कोटेश्वर चंदन नगर में अपने मायके में रूक गईं। उन्होंने बताया कि बहोड़पुर स्थित राधा रानी होटल से हुई थी और बारात भी ग्वालियर रतन कॉलोनी से आई थी। वहीं सागर ताल रोड स्थित मेबाती मोहल्ला निवासी एक व्यक्ति को पिछले दिनों कोरोना का संक्रमण निकला था। इसलिए घर के अन्य सदस्यों ने जांच कराई तो संक्रमित की 40 वर्षीय पत्नी, 22 वर्षीय बेटी और 19 वर्षीय बहू भी संक्रमित निकले हैं।

नवीन इलेक्ट्रीकल के संचालक को हुआ कोरोना

मुरार सीपी कॉलोनी निवासी 42 वर्षीय संक्रमित की मुरार थाने के सामने नवीन इलेक्ट्रीकल के नाम से दुकान है। संक्रमित ने बताया कि उसे तीन दिन से बुखार आ रहा था। इतना ही नहीं संक्रमित ने मंगलवार की शाम 7 बजे तक दुकान भी खोली है। वहीं पिंटो पार्क किराए से रहने वाले 25 वर्षीय संक्रमित ने बताया कि वह मंघाराम फैक्ट्री का कर्मचारी है। उसे फैक्ट्री वालों ने जांच कराने के लिए कहा था। उसके पिता और भाई मुरैना चाचा के लड़के की शादी में शामिल होने गए हैं।

वन विभाग का रेंजर भी संक्रमित

ठाटीपुर फॅारेस्ट कॉलोनी निवासी 41 वर्षीय संक्रमित वन विभाग में रेंजर है। संक्रमित ने बताया कि वह 19 जून को भिण्ड अपने घर गए थे। उसके बाद से ही उन्हें बुखार आ रहा था। रेंजर शनिवार तक सिटी सेन्टर स्थित कार्यालय में शनिवार तक ड्यूटी पर भी गया था। जबकि उसकी कॉलोनी में वन विभाग के करीब 15 क्वाटर भी हैं। वहीं मुरार बेजल कोठी निवासी 58 वर्षीय संक्रमित की मुरार सदर बाजार में सोनपाल प्यारे लाल नाम से किराने की दुकान है। संक्रमित ने बताया कि पिछले तीन दिनों से बुखार आ रहा था। उनके घर में कुल 9 सदस्य रहते हैं।

कोचिंग संचालक गमी में हुए था शामिल

हुरावली निवासी 30 वर्षीय संक्रमित कोचिंग संचालक है। संक्रमित ने बताया कि 26 जून को उसके चाचा के बेटे की मौत हो गई थी। इसलिए वह अंति संस्कार में गए थे। जहां से लौटने के बाद उन्हें गली में खरास हो रही थी। इसके अलावा दीनदयाल नगर निवासी 45 वर्षीय संक्रमित मेहगांव स्थित एसबीआई बैंक में विशेष सहायक के पद पर पदस्थ है। संक्रमित ने बताया कि दो दिन से उसे खांसी और बुखार आ रहा था। संक्रमित पिछले दिनों शुक्रवार तक बैंक भी गया है। इसलिए बैंक में वह कई लोगों के सम्पर्क में आया होगा।

भाई के घर से लौटने के बाद आया बुखार

ठाटीपुर विवेक विहार कॉलोनी निवासी 45 वर्षीय महिला का भाई नदीपार टाल में रहता है। महिला ने बताया कि उसके भाई के यहां किराए से रहने वाले युवक को कोरोना निकला है। इसलिए उन्होंने अपनी भी जांच कराई। वहीं

किलागेट गोल पाड़ा निवासी 42 वर्षीय व्यक्ति की घर पर ही सोने चांदी की दुकान है। व्यक्ति ने बताया कि शिविर में उसने अपनी 12 वर्षीय बेटी का भी नमूना दिया था। रिपोर्ट में दोनों ही संक्रमित निकले हैं। व्यक्ति की दुकान पर रोज 4 से 5 लोग आते हैं।

हजीरा पर लगाता है अगरबत्ती का ठेला

रमटा पुरा निवासी 37 वर्षीय संक्रमित हजीरा पर अगरबत्ती का ठेला लगाता है। संक्रमित ने बताया कि वह 17 को आगरा से लौटा है और उसने शिविर में अपना नमूना दिया था। संक्रमित ने मंगलवार को भी ठेला लगाया है। इसके अलावा 52 वर्षीय संक्रमित की हजीरा पर पशु आहार की दुकान है। संक्रमित ने मंगलवार को भी अपनी दुकान खोली थी। जहां प्रतिदिन करीब 10 से 15 लोग आते हैं।

सांस लेने में हो रही थी तकलीफ

भिण्ड निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति शिव नगर सांई विहार कॉलोनी में किराए से रहता है। व्यक्ति ग्वालियर में प्रॉपर्टी का काम करता है और चार दिन पूर्व ही भिण्ड से लौटा है। युवक को सांस लेने में परेशानी हो रही थी, इसलिए उसे पूर्व में भी जयारोग्य के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था।

मां के बाद दोनों बेटियां संक्रमित

पटेल नगर निवासी 49 वर्षीय महिला 28 जून को संक्रमित निकली थीं। उसके बाद उनके बच्चों ने भी अपनी जांच कराई। मंगलवार को आई रिपोर्ट में 13 वर्षीय व 20 वर्षीय बेटी संक्रमित निकली है। महिला के बेटे ने बताया कि वह 7 दिन पहले पोरसा से ग्वालियर लौटै हंै। वहीं कोटेवाला मोहल्ला निवासी 48 वर्षीय व्यक्ति हजीरा चौराहे पर कपड़े का ठेला लगाते हैं। पूल सैंपलिंग में उन्होंने अपना नमूना दिया था। रिपोर्ट में संक्रमित निकले हंै। बताया गया है कि व्यक्ति मंगलवार की शाम को भी हजीरा चौरोह पर कपड़े का ठेले लगाए हुए थे।

निगम के 50 से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों ने कराई जांच

निगमायुक्त संदीप माकिन के निज सहायक अंकुर गुप्ता के कारण मंगलवार को 50 से अधिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अपनी कोरोना जांच करानी पड़ी। अभी कई लोग ऐसे रह गए हैं जो गुप्ता के संपर्क में थे। उनकी जांच बाद में होगी। मंगलवार को मुख्यालय के सभागार में अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव, राजेश श्रीवास्तव, आरके श्रीवास्तव, वित्त आयुक्त देवेन्द्र पालिया, उपायुक्त जगदीश अरोरा, सुनील सिंह सहित अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों ने अपनी जांच कराई। इस दौरान बहुत से अधिकारी व कर्मचारी डर के मारे गायब भी हुए। अभी गुप्ता से जुड़े ठेकेदार और लेखा शाखा सहित अन्य विभागों के कर्मचारियों की जांच नहीं हो पाई है।

Updated : 2020-07-02T06:39:19+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top