Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > मंघाराम फैक्ट्री के कर्मचारी व आईपीएस की मां सहित आठ संक्रमित

मंघाराम फैक्ट्री के कर्मचारी व आईपीएस की मां सहित आठ संक्रमित

रिपोर्ट आने के बाद संक्रमित पहुंचा घर, 1500 कर्मचारी करते हैं काम, फैक्ट्री बंद

मंघाराम फैक्ट्री के कर्मचारी व आईपीएस की मां सहित आठ संक्रमित
X

ग्वालियर, न.सं.। जिले में एक दिन की राहत के बाद फिर से कोरोना के एक साथ आठ संक्रमित सामने आए हैं। इसमें एक संक्रमित जेबी मंघाराम बिस्किट फैक्ट्री का कर्मचारी और एक आईपीएस अधिकारी की मां भी शामिल हैं। उधर फैक्ट्री के कर्मचारी को कोरोना निकलने के बाद प्रशासन में हड़कम्प मचा हुआ है, क्योंकि जिस समय कर्मचारी की रिपोर्ट सामने आई, उस समय वह फैक्ट्री में ड्यूटी कर रहा था। इसलिए फैक्ट्री को भी पूरी तरह बंद कर दिया गया है।

गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय व जिला अस्पताल की लैब में शुक्रवार को 642 नमूनों की जांचे की गईं। दोनों ही लैबों की रिपोर्ट में आठ संक्रमित सामने आए हैं। इसमें सब्जी वाले के संपर्क में आए श्री नगर कॉलोनी निवासी उसकी पत्नी व उसके दो बेटे एवं दिल्ली से 16 जून को लौटा 26 वर्षीय युवक, हरिशंकर पुरम निवासी 26 वर्षीय युवक, छत्री मण्डी निवासी 24 वर्षीय प्रतीक, द्वितीय बटालियन से आईपीएस अधिकारी की 59 वर्षीय मां, गोले का मंदिर निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति शामिल हैं। गोले का मंदिर स्थित कृष्णा कॉलोनी डी-ब्लॉक निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति जेबी मंघाराम फैक्ट्री की क्वालिटी यूनिट में काम करता है। शुक्रवार को भी व्यक्ति ड्यूटी पर गया था और कोरोना संक्रमित की सूचना मिलते ही शाम 6 बजे अपने घर पहुंचा। इधर कर्मचारी को कोरोना निकलने के बाद फैक्ट्री में भी हड़कम्प मच गया और उसके सम्पर्क में आए करीब 15 लोगों को होम क्वारेन्टाइन किया गया। साथ ही पूरी फैक्ट्री को भी बंद कर सेनेटाइज कराया जा रहा है। व्यक्ति ने बताया कि उसकी पत्नी बिरला नगर प्रसूति गृह में एएनएम हैं। इसलिए उसने अपनी पत्नी और बेटी की जांच कराई थी। जिसमें सिर्फ उसे ही कोरोना निकला है। जबकि बेटे की जांच ही नहीं हुई है। फैक्ट्री के पर्सनल मैनेजर सुनील श्रीवास्तव ने बताया कि फैक्ट्री को अभी बंद कर दिया गया है, साथ ही सेनेटाइजेशन कराया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि फेक्ट्री में करीब 1500 से ऊपर का स्टॉफ है। नए मरीजों के आने से जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 304 पहुंच गई है। जबकि तीन की मृत्यु भी हो चुकी है।

दिल्ली व आगरा से लौटे दो संक्रमित

हरिशंकर पुरम निवासी 26 वर्षीय युवक का फ्लैक्स का व्यापार है। इसलिए वह 12 दिन पूर्व आगरा व्यापार के सिलसिले में गया था। आगरा में ही उसे बुखार आने लगा। इसलिए वह 18 जून को घर लौटा और मुरार जाकर जांच कराई। जांच में उसे कोरोना निकला। इसी तरह श्री नगर कॉलोनी निवासी युवक भी 16 जून को दिल्ली से ट्रेन से लौटा है। युवक ने बताया कि 17 जून को वह जांच कराने पहुंचा था, लेकिन उसे लौटा दिया गया। इसलिए उसने 18 जून को नमूना दिया था।

कॉम्प्लेक्स से फिर सामने आया संक्रमित

बाला बाई का बाजार स्थित जगदम्बा कॉम्प्लेक्स में भी एक और कोरोना संक्रमित आया है। कॉम्प्लेक्स निवासी 48 वर्षीय कपड़ा कारोबारी सहित उसके सम्पर्क में आए कुल छह लोगों को कोरोना निकला चुका है। इसके बाद इसी कॉम्प्लेक्स में एक और कपडा व्यापारी को कोरोना की पुष्टि हुई है। व्यापारी ने बताया कि वह उनके सम्पर्क में आया था। इसलिए उसने खुद से अपनी जांच कराई है।

इनका कहना है

फैक्ट्री के कर्मचारी के सम्पर्क में जितने लोग आए हैं, उन्हें क्वारेन्टाइन करा दिया गया है। साथ ही फैक्ट्री प्रबंधन से बात कर काम बंद करवा दिया गया है।

एन.सी. गुप्ता

इंसीडेंट कमाण्डर

Updated : 2020-06-20T06:30:21+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top