Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > कोरोना और वायरल के समान लक्षण, 161 नए संक्रमित मिले

कोरोना और वायरल के समान लक्षण, 161 नए संक्रमित मिले

कोरोना और वायरल के समान लक्षण, 161 नए संक्रमित मिले
X

ग्वालियर, न.सं.। हर साल बारिश के मौसम में गले में खरास, जुकाम, बुखार और सिरदर्द की समस्याएं आम होती हैं। अस्पताल की ओपीडी भी वायरल से पीडि़त मरीजों से भरी होती है। जयारोग्य अस्पताल की ओपीडी में इन दिनों लगभग 350 मरीज आ रहे हैं। इनमें औसतन 100 से अधिक मरीज बुखार, खांसी, गले में खरास और जुकाम के आ रहे हैं। वहीं कोरोना और वायरल के लक्षण समान होने के चलते चिकित्सक भी एहतियात के तौर पर मरीजों को कोविड-19 की जांच कराने की सलाह दे रहे हैं। गुरुवार को ग्वालियर में 131 नए संक्रमित सामने आए हैं। जबकि 74 मरीज ठीक होकर घर पहुंचे हैं। गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय की वायरोलॉजिकल लैब में 103, जिला अस्पताल मुरार की रेपिड टेस्ट में 7 तथा निजी लैब की जांच में 21 संक्रमित निकले हैं। इन मरीजों को मिलाकर ग्वालियर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 4221 पहुंच गई है।

चिकित्सकों ने बताया कि कोरोना संक्रमण और वायरल के लक्षण समान हैं। इसलिए बिना कोविड-19 की जांच कराएं। यह पता लगाना संभव नहीं कि मरीज को वायरल है या कोरोना संक्रमण। अस्पताल में जो भी बुखार, खांसी, जुकाम व गले में खरास से पीडि़त मरीज आ रहे हैं, उन्हें कोविड-19 की जांच कराने को बोला जा रहा है। साथ ही जांच रिपोर्ट आने तक उन्हें एकांतवास रहने के लिए कहा जा रहा है। ताकि यदि मरीज को कोरोना है तो उसका संक्रमण अन्य तक होने से रोका जा सके।

लोको अस्पताल के चिकित्सक संक्रमित

तानसेन नगर निवासी 54 वर्षीय व्यक्ति को बुखार आ रहा था। जांच कराने पर वह संक्रमित निकले। व्यक्ति लोको अस्पताल में चिकित्सक हैं और दो दिन पहले तक अस्पताल जाते रहे। इसी तरह गोसपुरा निवासी 2 वर्षीय व 6 वर्षीय मासूम भी कोरोना की चपेट में आए हैं। बच्चों से पहले उनकी मां संक्रमित निकल चुकी है। मुरार निवासी 40 वर्षीय महिला सफाई कर्मचारी एसएनसीयू में है। महिला संक्रमित निकली है। इसी तरह दीनदयाल नगर निवासी 55 वर्षीय महिला मुरैना स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ है। महिला की 32 वर्षीय बहु भी संक्रमित पाई गई है।

सिपाही बोला, रिपोर्ट गलत है, मैं एक दम स्वस्थ हूं

28 वर्षीय युवक ऑफिसर कॉलोनी में रहते हैं। एक महीने पहले इंदौर गए थे। बीते रोज जब जांच कराई, तो उनकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। जिस पर युवक ने कहा कि रिपोर्ट गलत है और उन्हें किसी भी तरह की कोई भी परेशानी नहीं है। वह दुबारा जांच कराने की बात कर रहे हैं। मकौड़ा निवासी 34 वर्षीय महिला को बुखार आ रहा था, महिला शिक्षिका है। दो दिन पहले तक वह शासकीय स्कूल में जा रही थी।

आरोपी को जांच कराने के बाद भेजा जेल, संक्रमित निकला

22 वर्षीय युवक को डबरा पुलिस ने गिरफ्तार कर उसे न्यायालय में पेश किया था। जांच कराने के बाद युवक को जेल भेज दिया गया। जांच रिपोर्ट में आरोपी संक्रमित निकला है। वहीं गोले का मंदिर थाने में बंद 21 वर्षीय आरोपी भी संक्रमित निकला है। युवक को जेल भेज दिया गया है।

किराएदार के बाद मालिक भी

प्रसाद नगर निवासी वृद्ध को तीन दिन से बुखार आ रहा था। वृद्ध के किराएदार पहले ही संक्रमित निकल चुके हैं। जिनका उपचार चल रहा है। जांच रिपोर्ट में वृद्ध भी संक्रमित निकले हैं। वहीं जयारोग्य के आई विभाग के दो जूनियर चिकित्सक भी कोरोना की चपेट में आए हैं।

Updated : 2020-08-23T06:51:49+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top