Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > दीपक जलाने से कोरोना वायरस का संक्रमण होगा कम

दीपक जलाने से कोरोना वायरस का संक्रमण होगा कम

मानसिक दशा में आएगा बदलाव

ग्वालियर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने पांच अप्रैल रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक अपने घर की सभी लाइटों को बंद करके दीपक, मोमबत्ती, टॉर्च और मोबाइल की फ्लेश लाइट जलाने के लिए आव्हान किया है। प्रधानमंत्री जी के ऐसा कहने से जहां लोगों की मानसिकता में तो बदलाव आएगा वहीं अंधकार रूपी राहु गृह की नकारात्मक उर्जा भी कम हो जाएगी जिससे वातावरण अच्छा होने लगेगा। इसी के साथ कोरोना वायरस का फैला हुआ संक्रमण भी काफी हद तक कम हो जाएगा।

ज्योतिषाचार्यों की राय के अनुसार नौ नम्बर मंगल का नम्बर होता है। पांच अप्रैल को प्रदोषकाल का समय है। इस दिन रात नौ बजे, नौ मिनट तक दीपक जलाने से मंगल और अधिक मजबूत होगा, जिससे हम सबकी बिल पावर (आंतरिक शक्ति ) बढ़ेगी जो हमें बाहर की शक्तियों से लडऩे की ताकत देगी। ज्योतिषाचार्र्यों ने बताया कि पांच अप्रैल को चंद्रमा सिंह राशि में है। सिंह राशि यानी कि सूर्य की राशि। ज्योतिषाचार्र्यों ने कहा कि सूर्य का मतलब रोशनी से होता है। रोशनी करने से चंद्रमा को ताकत मिलेगी, ऐसा करने से मानवजाति को भी शक्ति मिलेगी। वर्तमान में लोगों की जो मानसिक दशा खराब हो रही है की वह डॉक्टरों को मार रहे हैं, भगा रहे हैं, वह भी नियंत्रित हो जाएगी। दीपक जलाने के साथ अगर आप मंत्रों का जाप करते हैं तो इससे ध्वनि ऊर्जा भी क्रिएटिव होगी। उन्होंने कहा कि इस समय हमें राहु की उर्जा को कम करना है। राहु का मतलब अंधकार होता है।

ऐसा भी कर सकते हैं:-

- दीपक सरसों के तेल का हो तो यह बहुत अच्छा होगा। यह स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है।

- अगर घी का दीपक जलाएं तो इसमें थोड़ा कपूर जरूर डालें यह भी लाभकारी होता है।

- अगर आप तेल का दीपक जलाते हैं तो इसमें एक लोंग जरूर डालें ताकि आप फैलने वाली बीमारियों को नियंत्रित कर सकें।

- मोमबत्ती में ज्वार के दाने डालें ताकि राहु के प्रभाव को कम किया जा सकता है। ऐसा करने से हमें ब्रह्मांड से भी शक्ति प्राप्त होगी।

इनका कहना है:-

'मानव की जन्म पत्रिका में जब कोई मुसीबत आती है तो उसे महामृत्युंजय का जाप करने के लिए कहा जाता है, जो उसकी मुसीबतों को कम करता है। वर्तमान समय संकट का है। रविवार को प्रदोष काल का समय है, इस दिन दीपक जलाने से वातावरण में फैले वैक्टीरिया समाप्त होंगे और नकारात्मकता समाप्त हो जाएगी। इन बातों का उल्लेख हमारे ग्रंथों में भी किया गया है। ऐसा करने से कई दिनों से घर में बंद व्यक्ति के जीवन में सकारात्मका भी प्रवेश करेगी जिसके परिणाम अच्छे आएंगे। '

डॉ. ए.के. वाजपेयी

प्राध्यापक एमएलबी कॉलेज

'रविवार को प्रदोषकाल का दिन है। इस दिन दीपक जलाने से देश में फैला संक्रमण समाप्त होगा। बीमारियों का नाश होगा। साथ ही मंगल मजबूत होगा और राहु का प्रभाव कम होगा। '

सुनील जोशी जुन्नरकर

ज्योतिषाचार्य

Updated : 2020-04-06T13:00:02+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top