Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > स्टेशन पर 74 यात्रियों की जांच, 7 निकले संक्रमित, 5 यात्री भिंड के

स्टेशन पर 74 यात्रियों की जांच, 7 निकले संक्रमित, 5 यात्री भिंड के

- हैरानी की बात यह कि किसी को भी कोई लक्षण नहीं

स्टेशन पर 74 यात्रियों की जांच, 7 निकले संक्रमित, 5 यात्री भिंड के
X

ग्वालियर/वेब डेस्क। शुक्रवार को ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर नजारा कुछ बदला-बदला सा जा नजर आया। स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को पिछले वर्ष अप्रैल के वो दिन याद आ गए जब श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से उतरने के बाद यात्रियों के नाम व पते लिखे जा रहे थे। शुक्रवार को महाराष्ट्र के अधिक संक्रमण वाले शहरों से आ रहे लोगों की कोविड जांच की गई। मुंबई से आने वाली पंजाब मेल व पुणे से आने वाली झेलम एक्सप्रेस से उतरे 74 यात्रियों की स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों द्वारा जांच की गई। जिसमें से सात लोग संक्रमित निकले। हैरानी की बात यह थी कि जो सात लोग संक्रमित पाए गए थे उनमें से किसी को भी कोई भी लक्षण नहीं था। संक्रमित निकले दो यात्री ग्वालियर व 5 यात्री भिंड के थे। जिन्हें घर में होम क्वारेंटाइन किया गया है।


यहां पिछले कई दिनों से मरीजों की केस हिस्ट्री की पड़ताल करने पर ये सामने आया कि अधिकांश लोग दूसरे शहरों से संक्रमित होकर ग्वालियर आए। उसके बाद यहां भी उनसे मिलने वाले अनेक लोग संक्रमित हुए हैं। जिसको लेकर जिला प्रशासन ने रेलवे स्टेशन, विमानतल व बस स्टैंड पर स्वास्थ्य विभाग को तैनात किया गया है। प्रशासन के निर्देश पर तीन टीम रेलवे स्टेशन पर हर दिन मुंबई से आने वाली ट्रेनों से उतरने वाले यात्रियों का लक्षण के आधार पर जांच कर रही है। मौके पर एक मोबाइल वैन और एम्बुलेंस भी सक्रिय है।

विमानतल पर राहत की सांस

शुक्रवार को पुणे से ग्वालियर आए यात्रियों की जांच की गई। जिसमें 25 यात्रियों में से कोई भी संक्रमित नहीं निकला। जिस पर स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है। वहीं विमानतल पर नो मास्क, नो एंट्री का आदेश जारी कर दिया गया है।

मुंबई से आने वाली अन्य ट्रेनों के यात्रियों की जांच नहीं

स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार से मुंबई व पुणे से आने वाले यात्रियों की जांच शुरू कर दी हो। लेकिन उसके बाद भी मुंबई से आने वाली मुंबई राजधानी एक्सप्रेस, मंगला एक्सप्रेस, गोवा एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनों से आने वाले यात्रियों की जांच नहीं की जा रही है।

स्टेशन पर शुरू हुई सख्ती

कोरोना के इस बढ़ते प्रभाव को देखते हुए रेलवे अधिकारियों के साथ-साथ आरपीएफ के जवान भी जिला प्रशासन का सहयोग कर रहे हैं। रेलवे अधिकारियों ने यात्रियों से कहा है कि संक्रमण रोकने के लिए सबसे प्रभावी कदम है कि सभी लोग मास्क का उपयोग करें। शारीरिक दूरी अपनाएं और सेनेटाइजर का अधिक उपयोग करें।

Updated : 2021-04-03T18:32:11+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top