Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > 24 घंटे में कोरोना से चार की मौत

24 घंटे में कोरोना से चार की मौत

24 घंटे में कोरोना से चार की मौत

File photo

ग्वालियर, न.सं.। जिले में कोरोना संक्रमितों के साथ ही संक्रमण से होने वाली मौतों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ रहा है। इसी के चलते 24 घंटे में जयारोग्य चिकित्सालय के सुपर स्पेशलिटी में भर्ती चार संक्रमितों की मौत हो गई। इसमें तीन संक्रमित ग्वालियर व एक धौलपुर का है। यह पहली बार है जब एक दिन में संक्रमण के कारण चार लोगों की मौत हुई है।

जनकगंज निवासी 38 वर्षीय आशिक अली दो अगस्त को सीबी नैट की जांच में संक्रमित निकले थे। इसलिए उन्हें सुपर स्पेशलिटी में भर्ती कर उपचार शुरू किया गया। जहां गुरुवार की सुबह उनकी मृत्यु हो गई। इसी तरह गोले का मंदिर निवासी 60 वर्षीय रामसिया की रिपोर्ट में संक्रमण आने पर उन्हें तीन अगस्त को भर्ती कराया गया था। जबकि आनंद नगर निवासी 60 वर्षीय मुन्नी देवी को 30 जुलाई को भर्ती कराया गया था। इन दोनों मरीजों की भी गुरुवार को मृत्यु हो गई। उधर धौलपुर निवासी 70 वर्षीय शिवचरण ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इन लोगों मौत होने से जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 27 हो गई है। जबकि 2874 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

मान्य नहीं कर रहे रिपोर्ट

इधर प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कोरोना से हो रही मृत्यु के आंकड़ों को कम करने के लिए सीबी नेट की रिपोर्ट को मान्य नहीं कर रहे। आशिक अली को सीबी नैट की जांच रिपोर्ट में संक्रमण निकलने पर भर्ती कराया गया और चार अगस्त को उसका दूसरा नमूना करा दिया गया जो निगेटिव आया। इस मामले में सबसे बड़ी बात यह है कि अगर सीबी नैट की जांच को आधार नहीं माना जा सकता तो मरीज को सुपर स्पेशलिटी में क्यों भर्ती किया गया? इस बात का जवाब न तो अस्पताल प्र्रबंधन के पास है और न ही प्रशासन के पास। इतना ही नहीं पूर्व में भी कई संक्रमितों की मौत के बाद उनकी रिपोर्ट निगेटिव बताई गई। ऐसे में सवाल यह खड़े हो रहे हैं कि अगर मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी तो परिजनों को शव क्यों नहीं दिया गया।

Updated : 2020-08-10T15:36:59+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top