Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > रंगों में मिले खतरनाक रसायन, होली में रखें सावधानी

रंगों में मिले खतरनाक रसायन, होली में रखें सावधानी

रंगों में मिले खतरनाक रसायन, होली में रखें सावधानी
X

भोपाल/मध्य स्वदेश संवाददाता। हर्षोल्लास के साथ मनाए जाने वाले होली पर्व में आज सतर्कता जरूरी है। बाजार में बिकने वाले रंगों में खतरनाक रसायन मिले हैं जो शरीर के अंगों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए होली खेलें जरूर, लेकिन कुछ सावधानियों के साथ।

मानसरोवर आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज एण्ड रिसर्च सेंटर भोपाल के विभागाध्यक्ष डॉ. राकेश पाण्डेय बताते हैं कि खतरनाक रसायन युक्त रंगों से आंख, दांत, नाक, बाल, पेट, नाखून और त्वचा को बचाना जरूरी है। अन्यथा इन रसायन युक्त रंगों से आंखों की रोशनी जाना तथा कैंसर जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है। श्री पाण्डेय के अनुसार विभिन्न रंगों में कॉपर सल्फेट, एल्यूमीनियम ब्रेमाइड, क्रोमियम आयोडाइड, मरकरी सल्फाडाइट, लेड ऑक्साइड, पार्सियन ब्लू जैसे नुकसानदेह रसायन मिले होते हैं। इसलिए होली खेलने से पहले बालों और त्वचा पर सरसों या नारियल का तेल गहराई के साथ लगाएं, होली धूप में न खेलें और अगर खेलना भी पड़े तो मुंह व शरीर पर माइस्चराइजर या सनक्रीम लगाएंं, बालों की सुरक्षा के लिये एक दिन पहले मेंहदी लगाएं व बालों को ट्रिम करा लें व नाखूनों की सुरक्षा के लिए नाखूनों में नेलपेंट लगाएं।

कोहनी- घुटनों पर वेसलीन लगाएं, दांतों को बचाने के लिये डेंटल कैप्स का प्रयोग करें, आखों को बचाने के लिए धूप का चश्मा लगाएं व त्वचा का बचाव पूरे कपड़े पहनकर ही होली खेलें। होली में अबीर का इस्तेमाल न करें तो बेहतर है क्योंकि इसमें सीसा होता है । डॉ पाण्डेय ने कहा कि ऑर्गेनिक रंगों का प्रयोग करें। फूल, पत्तियों से बने हर्बल कलर उपयोग में लें। लापरवाही बरतने पर हेडक, वोमेटिंग, कफ, अस्थमा, हॉयपरटेंशन, इन्सोम्निया, एग्जरसन, कान में रंग जाने से कर्णशूल, नाक में रंग जाने से सीजिंग, एपिस्टैक्सिस, कॉमन कोल्ड, त्वचा में खुजली, रिंगवार्म, एग्जिमा, एक्ने, फॉलिंग हेयर, दांतों में खतरनाक रंगों के कारण टूथ ब्लेमिश, डेंटल केरीज, आखों में खतरनाक केमिकल लगने से इरीटिस, डस्टी साइट, कॉर्नियल अल्सर के साथ - साथ आखों की रोशनी भी जा सकती है । डॉ. पाण्डेय के अनुसार होली पर खतरनाक रंगों के कारण मुंह के छाले, पेट दर्द, दस्त, उल्टियां, पेट में कीड़े, आखों मे सूजन और ज्यादा रंग चले जाने से आंखों की रोशनी जाने का भी डर रहता है। होली खेलने के बाद दूध, दही, बेसन का प्रयोग रंग छुड़ाने के लिए करें।

Updated : 2019-03-18T22:42:37+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top