Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > चैक पोस्टों पर चालकों से अभद्रता बर्दास्त नहीं: परिवहन आयुक्त

चैक पोस्टों पर चालकों से अभद्रता बर्दास्त नहीं: परिवहन आयुक्त

परिवहन आयुक्त ने ली चार संभागों के परिवहन अधिकारियों और निरीक्षकों की परिचय बैठक

चैक पोस्टों पर चालकों से अभद्रता बर्दास्त नहीं: परिवहन आयुक्त
X

भोपाल, विशेष संवाददाता। पदस्थापना के बाद अभी छह माह तक मैं विभागीय संरचना, कार्यप्रणाली और व्यवस्थाओं को गंभीरता से समझूंगा। लेकिन अनियमितताओं के चलते परिवहन चैक पोस्टों पर रोके जाने वाले वाहनों के चालकों के साथ अभद्रता या मारपीट जैसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए। अनियमितताओं पर वैधानिक कार्रवाई जरूर करें, लेकिन स्वयं का व्यवहार शालीन ही रखें। जल्द ही मैं अपना एक नंबर शिकायतों के लिए सार्वजनिक करूंगा। इस नंबर पर वाहन चालकों/परिचालकों या संचालकों द्वारा परिवहन चैक पोस्टों या परिवहन उडऩदस्ता द्वारा अभद्रता या मारपीट जैसी शिकायतें मिलेंगी, उन प्रभारियों पर न केवल कार्रवाई होगी, बल्कि उन्हें स्वयं ही शिकायत कर्ता से बात कर उन्हें संतुष्ट करना होगा। मेरे द्वारा शिकायतकर्ता से इसकी प्रतिपुष्टि भी की जाएगी। इस तरह के निर्देश मप्र के नवागत परिवहन आयुक्त मुकेश कुमार जैन ने बुधवार 19 जुलाई को राजधानी के पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र में ली चार संभागों के क्षेत्रीय परिवहन अधिकारियों और परिवहन निरीक्षकों की बैठक में दिए।

बैठक में उपस्थित भोपाल, होशंगाबाद, उज्जैन और इंदौर संभागों के करीब आधा सैकड़ा से अधिक क्षेत्रीय, उप क्षेत्रीय, जिला परिवहन अधिकारियों और परिवहन निरीक्षकों की बैठक में परिवहन आयुक्त श्री जैन ने जहां परिवहन के वार्षिक लक्ष्य की समीक्षा में कोरोना संक्रमण में हुए भारी राजस्व हानि के बावजूद अधिक से अधिक विभागीय राजस्व संग्रहण की बात कही, वहीं अपना कार्य लक्ष्य एवं दिशा को स्पष्ट करते हुए विभाग के माध्यम से जनता को अच्छी से अच्छी सेवा निर्वाध रूप से उपलब्ध कराए जाने को अपनी प्राथमिकता बताया। उन्होंने स्पष्ट किया कि वह चाहते हैं विभाग की सेवाओं और अधिकारियों/कर्मचारियों की कार्यशैली से कोई भी व्यक्ति असंतुष्ट न दिखे। हर व्यक्ति को विभागीय सेवाओं के प्रति संतुष्ट नजर आना चाहिए। उन्होंने बैठक में उपस्थित सभी परिवहन अधिकारियों और परिवहन निरीक्षकों से परिचय प्राप्त कर उनकी पदस्थापनाओं के बारे में जाना।

अवैध वसूली को लेकर नहीं हुई चर्चा

प्रदेशभर की परिवहन चैक पोस्टों से आ रही अवैध वसूली की शिकायतों और सूचनाओं पर परिवहन आयुक्त ने अपनी पहली परिचय बैठक में भलें उल्लेख नहीं किया। लेकिन चैक पोस्टों पर बाहरी असमाजिक तत्वों के सहारे धमकाकर या मारपीट कर अवैध वसूली न हो, इसके संकेत जरूर उन्होंने दिए। परिवहन आयुक्त की इस परिचय बैठक से यह तो साफ हो गया कि परिवहन चैक पोस्टों पर लम्बे समय से चल रही अवैध वसूली भलें राजनीतिक दबाव व अन्य कारणों के चलते एकदम रोकने में सफल नहीं हो सकें, लेकिन स्थानीय लठैतों और असमाजिक तत्वों के सहारे चल रही अवैध वसूली पर वे अंकुश जरूर लगाना चाहते हैं। उल्लेखनीय है कि प्रदेश की अधिकांश परिवहन चैक पोस्टों पर ट्रक चालकों को बिना किसी गलती के एवं अकारण ही रोककर उनसे अवैध वसूली की जा रही है। अवैध वसूली का कारण जानने पर अथवा पैसे देने से मना करने पर चैक पोस्ट प्रभारियों के इशारे पर स्थानीय लठैतों द्वारा वाहन चालकों/परिचालकों के साथ अभद्रता और मारपीट की जाती है। खास बात यह है कि अब तक यह अवैध वसूली परिवहन आयुक्त कार्यालय के लिपिक के इशारे पर ही होती रही है। बताया जा रहा है कि भारी राजनीतिक दबाव के बावजूद विभाग और 'महल' को बदनामी से बचाने के लिए नवागत परिवहन आयुक्त श्री जैन विभागीय कार्यप्रक्रिया में इस लिपिक के हस्तक्षेप और स्वच्छंदता पर अंकुश लगाने पर विचार कर रहे हैं।

Updated : 20 Aug 2020 11:39 AM GMT
Tags:    

Vinod Dubey

Journalist from Bhopal


Next Story
Share it
Top