Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > 6 अप्रैल के दिन ही दांडी यात्रा का समापन और भाजपा का गठन सुखद संयोग : शिवराज सिंह

6 अप्रैल के दिन ही दांडी यात्रा का समापन और भाजपा का गठन सुखद संयोग : शिवराज सिंह

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने किया स्वास्थ्य आग्रह

6 अप्रैल के दिन ही दांडी यात्रा का समापन और भाजपा का गठन सुखद संयोग : शिवराज सिंह
X

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 6 अप्रैल बहुत ऐतिहासिक और पवित्र दिन है। आज ही के दिन महात्मा गांधी की दांडी यात्रा का समापन हुआ और 6 अप्रैल को ही भारतीय जनता पार्टी का गठन हुआ। यह सुखद संयोग है कि आज 6 अप्रैल को हम गांधी प्रतिमा के समक्ष स्वास्थ्य आग्रह के लिए बैठे हैं। यह बात मुख्‍यमंत्री चौहान ने मंगलवार को कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जन-जागृति पैदा करने के उद्देश्य से राजधानी भोपाल के मिंटो हॉल के समक्ष स्थित गांधी प्रतिमा के समीप आयोजित स्वास्थ्य आग्रह में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी ने सत्याग्रह कर देश को आजाद कराया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छ आग्रह कर देश को स्वच्छ बनाया। इसी कड़ी में आज मैं स्वास्थ्य आग्रह के लिए महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष हूँ। मुख्यमंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य आग्रह में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित करने के संबंध में कैबिनेट बैठक भी होगी। इसके साथ ही प्रदेश के जिलों के प्रमुख व्यक्तियों, व्यापारी संगठनों, स्वयंसेवी समूहों, शिक्षा जगत से जुड़े व्यक्तियों, परिवहन व्यवसाय से जुड़े व्यक्तियों, कोरोना वॉलेंटियर्स, पथ विक्रेताओं आदि से चर्चा की जाएगी।

कोरोना संक्रमण को रोकने का व्यवहार आवश्यक -

चौहान ने कहा कि निश्चित ही पहला सुख निरोगी काया है। कोरोना संक्रमण ने देश, दुनिया को प्रभावित किया है। यह ऐसी बीमारी है, जिस पर केवल शासकीय प्रयासों से नियंत्रण नहीं किया जा सकता। समाज के सहयोग के बिना यह लड़ाई नहीं जीती जा सकती, क्योंकि समाज के व्यवहार से भी यह संक्रमण फैलता है। प्रधानमंत्री मोदी ने टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट और टीकाकरण का मंत्र दिया है। इसके साथ-साथ हमें कोरोना संक्रमण को रोकने का व्यवहार चाहिए। इसमें बहुत कुछ काम सरकार कर रही है। संक्रमण बढ़ने के कारण अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। सरकार अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने और अन्य व्यवस्थाएँ करने में प्राण-प्रण से जुटी है।

समाज से नैतिक आग्रह करने के लिए मैं आज यहां हूं

मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण रोकने के लिए समाज को जागरूक होना पड़ेगा। समाज से नैतिक आग्रह करने के लिए मैं आज यहां हूं। वर्तमान में भी प्रदेश में मास्क लगाने की आदत बहुत कम है। यह सही है कि प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व के परिणाम स्वरूप देश में कोरोना संक्रमण की दर कम हुई, इसके साथ ही वैक्सीन भी आ गई। परिणाम स्वरूप लोग निश्चिंत हो गए, जिसका नतीजा यह हुआ कि संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैल गया।

सही नहीं है लॉकडाउन

चौहान ने कहा कि संक्रमण को रोकने का सरल उपाय है लॉकडाउन। लेकिन लॉकडाउन हमारी अर्थ-व्यवस्था को ध्वस्त कर देगा। यह लोगों के रोजगार छीन लेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं लॉकडाउन को सही नहीं मानता। सीमित लॉकडाउन तक बात ठीक है, स्थायी लॉकडाउन संक्रमण रोकने का समाधान नहीं है।

आत्म अनुशासन से रोकेंगे संक्रमण -

मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण रोकने का दूसरा तरीका है कि हम आत्म अनुशासन अपनाएं। मास्क लगाएं, सुरक्षित दूरी बनाकर रखें, बार-बार हाथ धोते रहें, वैक्सीनेशन करवाएं। इस सबमें समाज का सहयोग चाहिए। मास्क लगाने के लिए लोगों में उदासीनता है। इसके लिए लोगों को जागरूक करना होगा। अत: मैं नैतिक आग्रह करने के लिए आपके सामने आया हूं। लोगों में ऐसा भाव विकसित करना होगा कि यदि मैं मास्क नहीं लगा रहा हूँ तो कोई अपराध कर रहा हूं। चौहान ने कहा कि सोमवार के दिन मैंने अपने परिवार के सदस्यों को मास्क लगाया। हम सभी संकल्प करें कि मैं मास्क लगाऊँगा और परिवार का कोई भी सदस्य बिना मास्क के घर से बाहर नहीं निकलेगा। यह स्वास्थ्य का आग्रह है।

जन-जागरूकता के लिए मीडिया से अपील -

मुख्यमंत्री ने पत्रकार बंधुओं से सहयोग की अपील करते हुए कहा कि मीडिया बहुत प्रभावी माध्यम है, जिससे जागरूकता पैदा की जा सकती है। यह महीना गंभीर संकट का महीना है। प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया यदि जागरूकता को अपना दायित्व मानेंगा तो यह समाज की बड़ी सेवा होगी। चौहान ने कहा कि मैं धर्मगुरूओं, समाजसेवियों, राजनैतिक दलों, कार्यकर्ताओं और सभी संस्थाओं से इस अभियान में साथ आने की अपील करता हूँ। हम सब मिलकर ही कोरोना से मुकाबला कर सकते हैं और संक्रमण को रोक सकते हैं।

कोरोना वॉलेंटियर' अभियान

मुख्यमंत्री ने कहा कि 'मैं कोरोना वॉलेंटियर' अभियान आरंभ किया गया है। इसका इसका अर्थ यह है कि लोग अपने आप को कोरोना वॉलेंटियर के रूप में रजिस्टर कराएं। वे 181 पर कॉल करके और https://mp.mygov.in/ पर रजिस्टर करा सकते हैं। यह वॉलेंटियर सरकारी व्यवस्था के अतिरिक्त वैक्सीनेशन स्वयं-सेवक और चिकित्सा सुविधा स्वयं-सेवक के रूप में अपने आप को रजिस्टर करा सकते हैं। इसके साथ ही मास्क जागरूकता स्वयं-सेवक मास्क लगाने के लिए रोकने-टोकने, प्रेरित करने, आग्रह करने और मास्क उपलब्ध कराने का कार्य करेंगे। मोहल्ला टोली संगठन स्वयं-सेवक होम क्वारेंटाइन और संस्थागत क्वारेंटाइन में मददगार होंगे। इच्छुक व्यक्ति सीएम हेल्पलाइन और 181 पर इन कार्यों के लिए स्वयं का पंजीयन करा सकता है।

Updated : 2021-04-06T17:17:50+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top