Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > उपचुनाव में नहीं चला बिकाऊ वर्सेस टिकाऊ का मुद्दा,11 मंत्रियों ने दर्ज की जीत

उपचुनाव में नहीं चला बिकाऊ वर्सेस टिकाऊ का मुद्दा,11 मंत्रियों ने दर्ज की जीत

उपचुनाव में नहीं चला बिकाऊ वर्सेस टिकाऊ का मुद्दा,11 मंत्रियों ने दर्ज की जीत
X

भोपाल। प्रदेश में हुए उपचुनाव में भाजपा ने एक बार फिर जीत का परचम फहराया है। भाजपा ने 19 सीटों पर जीत दर्ज की है, वहीँ कांग्रेस के खाते में सिर्फ 9 सीटें आई है। टिकाऊ और बिकाऊ का मुद्दे के साथ चुनाव में उत्तरी कांग्रेस को बड़ी हार का सामना करना पड़ा है। चुनाव परिणाम से यह स्पष्ट हो गया है की जनता ने बिकाऊ और टिकाऊ को नकारते हुए शिवराज सरकार पर अपना विशवास जताया है।

इस उपचुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सहित राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं पूर्व सीएम कमलनाथ की साख दांव पर लगी थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हुए थे। जिसके बाद शिवराज सिंह ने सरकार सत्ता में आ गए थे।कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाकर अपने प्रचार प्रसार के दौरान खूब टिकाऊ और बिकाऊ का नारा लगाया। लेकिन परिणाम कुछ और निकले। शिवराज मंत्रिमंडल में शामिल 14 मंत्रियों में से 11 ने जीत दर्ज कर ली है।इनमें ज्यादातर ने बड़े अंतर से जीत हासिल की है। तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, प्रभुराम चौधरी, राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, हरदीप सिंह डंग, महेन्द्र सिंह सिसोदिया और बिसाहूलाल सिंह ने 2018 के चुनाव के मुकाबले उपचुनाव में ज्यादा वोटों से जीते हैं।

मध्यप्रदेश में उपचुनाव के नतीजों ने भाजपा के सत्ता पलट पर मुहर लगाई। कांग्रेस के बिकाऊ वर्सेस टिकाऊ के मुद्दे को खारिज कर दिया। शिवराज के चेहरे पर फिर भरोसा जताया, साथ ही सिंधिया के कांग्रेस छोडऩे के फैसले को भी सही साबित किया है। कुछ एक मंत्रियों को छोड़ दिए जाए, तो उपचुनाव के नतीजों में bhajpa ne ।


Updated : 2021-10-12T16:44:52+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top