Home > MP Election 2018 > छिंदवाड़ा में कांग्रेस 55 हजार से हारती है, मैं क्या जवाब दूं

छिंदवाड़ा में कांग्रेस 55 हजार से हारती है, मैं क्या जवाब दूं

पिपरिया के कांग्रेसी पदाधिकारियों के सामने झलका कमलनाथ का दर्द, बोले...

छिंदवाड़ा में कांग्रेस 55 हजार से हारती है, मैं क्या जवाब दूं
X

भोपाल। 'आप लोग छिंदवाड़ा से जुड़े हैं। लोग मुझसे पूछते हैं कि छिंदवाड़ा से सांसद हैं और आपकी पार्टी 55 हजार से विधानसभा हारती है। मैं क्या जवाब दूं। अगर हम पिपरिया हारते हैं, तो मैं मानूंगा पिपरिया तो गया। मानना ही पड़ेगा। अगर पिपरिया ऐसा कलंकित नहीं होता तो मैं पिपरिया की जिम्मेदारी लेता। मैं पिपरिया की तरफ देखने तक नहीं गया।

छिंदवाड़ा के सांसद और कांगे्रस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने इस तरह की समझाइस रविवार 14 अक्टूबर को पिपरिया विधानसभा क्षेत्र से आए कांग्रेस के स्थानीय पदाधिकारियों और कांग्रेस से जुड़े जनप्रतिनिधियों को दी। कांग्रेस के यह पदाधिकारी स्थानीय कार्यकर्ता वीरेन्द्र बेलवंशी के लिए कांग्रेस का टिकट मांगने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पास पहुंचे थे। छिंदवाड़ा जिले की पिपरिया विधानसभा से लगातार मिल रही बड़े अंतर की हार से परेशान कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष इतने पर ही नहीं रुके। पिपरिया के पदाधिकारियों के सामने भड़ास निकालते हुए उन्होंने कहा कि 'अगर हम पिपरिया क्षेत्र से विधानसभा में भी जीते होते तो मैं कहता यह छिंदवाड़ा का हिस्सा है। मुझ पर सबका उत्तराधिकार है।

लेकिन मुझसे तो पिपरिया वंचित है। सच बात तो यह है। सच बात यह है कि मेरे मन में भी चोर है। चाहे विकास की बात होती अथवा सड़क या पानी की, मैं तो सबसे ज्यादा प्राथमिकता पिपरिया को देता। मैंने मुल्ताई जीती, बैतूल जीती। यहां कितना हाईवे बना दिया। बैतूल-नागपुर हाईवे बनाया। मैंने कितनी नगर पालिका सीटें जीतीं। पिपरिया की तरफ मैंने देखा भी नहीं। चाहते ही नहीं आप लोगे। तो कोई भी बात हो रोजगार की बात हो। मैं छिंदवाड़ा को देता हँूू, पिपरिया को भी देता। पिपरिया अपनी अलग दुनिया है। पिपरिया के कांग्रेसियों से उन्होंने कहा 'इस बार सब आपके ऊपर है, क्या किया जाए।

उम्मीदवारों को लेकर कहा जाता है कि यह ठीक नहीं, वह ठीक नहीं, फलां ठीक नहीं। कोई सौ प्रतिशत तो ठीक होता नहीं है। चाहे भाजपा का हो या कांग्रेस का। सभी में नुक्स तो होता ही है। कोई कारखाने या फैक्ट्री से बनकर तो नहीं आता। अब देखना है कि किसमें सबसे कम नुक्स है। तो गाड़ी चलती है। यह आप लोगों की जिम्मेदारी। अब तो बूथ पर भी गिनती होती है। आप लोग तय कर लीजिए कि कौन प्रत्याशी ठीक रहेगा।

कांग्रेसियों ने दिया जीत का आश्वासन

कांग्रेसियों ने उन्हें आश्वासन दिया कि इस बात वह कड़ी मेहनत कर पिपरिया की सीट निकालेंगे। साथ ही कांग्रेस में अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट इस पर वीरेन्द्र बेलवंशी को टिकट देने की मांग की। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने वीरेन्द्र बेलवंशी को टिकट दिए जाने का आवश्वासन देते हुए कहा कि आप लोग क्षेत्र में जाकर मेहनत में जुट जाएं। इस बार पिपरिया कांग्रेस की झोली में आना चाहिए। अंत में उन्होंने कहा कि वीरेन्द्र बेलवंशी का टिकट पक्का आप लोग क्षेत्र में जाकर तैयारी करो।

Updated : 2018-10-15T18:36:18+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top