Home > Lead Story > खरगौन में दोबारा भड़की हिंसा, पूरे दिन रहेगा कर्फ्यू, 30 मकान-दुकानों में लगाई आग

खरगौन में दोबारा भड़की हिंसा, पूरे दिन रहेगा कर्फ्यू, 30 मकान-दुकानों में लगाई आग

10 पुलिसकर्मी समेत 30 से ज्यादा हुए घायल

खरगौन में दोबारा भड़की हिंसा, पूरे दिन रहेगा कर्फ्यू, 30 मकान-दुकानों में लगाई आग
X

खरगौन। मध्य प्रदेश के खरगौन जिला मुख्यालय पर रविवार शाम को रामनवमीं के जुलूस में डीजे बजाने को लेकर हुए विवाद के बाद विशेष समुदाय के लोगों ने पथराव कर दिया और जमकर तोड़फोड़ करते हुए करीब 30 मकानों और दुकानों में आगजनी कर दी। इसके बाद जिला प्रशासन ने पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया। इसके बावजूद रात 12 बजे दोबारा हिंसा भड़क गई। बताया जा रहा है कि उपद्रवियों ने पहले से ही इसकी पूरी तैयारी कर रखी थी। उन्होंने घरों की छतों पर पत्थर और पेट्रोल बम जमा कर रखे थे। इस हिंसा में 10 पुलिस कर्मी समेत 30 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।

रामनवमी पर रविवार को शाम करीब 5.30 बजे श्रीराम शोभायात्रा शहर के तालाब चौक से शुरू हुई। यहां लोग डीजे पर नाचते हुए आगे बढ़ रहे थे। इसी बीच पथराव शुरू हो गया। उपद्रवी ताबड़तोड़ पत्थर बरसाने लगे। इससे यहां पर भगदड़ मच गई। शाम को 6.00 बजे के करीब मोहन टॉकीज और गौशाला मार्ग पर भी पथराव शुरू हो गया। सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने हालात काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और हवाई फायर भी किए। भीड़ को तितर-बितर करने के बाद जुलूस को भी स्थगित कर दिया। कलेक्टर अनुग्रहा पी. भी मौके पर पहुंच गई और 6.37 बजे प्रभावित क्षेत्र में कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी।

इसके बाद 6.30 बजे भाटवाड़ी, सराफा व भावसार मोहल्ला के मकानों में आग: भाटवाड़ी व सराफा में पथराव हुआ। धार्मिक स्थल में आग लगा दी। तीन से ज्यादा दुकानें जला दी। भावसार मोहल्ला में आधे घंटे से ज्यादा समय पथराव चला। टवड़ी मोहल्ला माता चौक में एक मकान से लगातार पत्थर व फर्सियां फेंकी गई। लोग आमने-सामने हो गए। इस दौरान पेट्रोल बम भी फेंके गए। कुछ मकानों के बाहर रखा सामान जल गया।

शहर में शाम से लेकर देर रात तक कुल 6 से स्थानों पर पथराव और आगजनी की घटनाएं हुईं, जिनमें 30 से ज्यादा दुकान-मकानें जल गईं। देर रात आनंद नगर, संजय नगर मोतीपुरा में घर फूंक दिए। कुछ लोगों ने घरों में लूटपाट भी की। डीआईजी तिलक सिंह, कलेक्टर अनुग्रहा पी, एसपी सिद्धार्थ चौधरी, एडीएम एसएस मुजाल्दा पूरे समय क्षेत्र में भ्रमण पर रहे और स्थिति पर नजर बनाए रखे। इंदौर संभागीय मुख्यालय पर सूचना देकर अन्य जिलों से पुलिस बल बुलाना पड़ा।

बताया जा रहा है कि एसपी चौधरी को संजयनगर-मोतीपुरा क्षेत्र में बाएं पैर में गोली लगी है। उन्हें पुलिसकर्मियों की मदद से निजी अस्पताल पहुंचाया। विशेषज्ञों ने उनके पैर का ऑपरेशन किया। जिला अस्पताल से दो बॉटल खून मंगाकर चढ़ाया गया। तालाब चौक क्षेत्र में पथराव में थाना प्रभारी बीएल मंडलोई को पत्थर सिर में लगा। जमींदार मोहल्ला के एक किशोर को भी सिर में गंभीर चोट आई है। उसे इंदौर रेफर किया। पथराव में 10 पुलिसकर्मी और 20 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।

कलेक्टर ने पहले पांच इलाकों में कर्फ्यू लगाया था, लेकिन देर रात तक जब हालात काबू नहीं हुए तो पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया। पथराव की सूचना पर सांसद गजेंद्रसिंह पटेल व भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष श्याम महाजन सराफा और भाटवाड़ी क्षेत्र पहुंचे। यहां पथराव व आगजनी होने लगी। इसके बाद वे यहां से लौटे और सीधे कोतवाली पहुंचे और यहां मौजूद कर्मचारियों को कहा जल्दी पुलिस बल भेजो, लेकिन यहां पुलिसकर्मी कहते रहे कि बल कम है। इसी दौरान दूसरे जिले से बल पहुंचा। उसे भाटवाड़ी क्षेत्र में भेजा गया। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और जिले के प्रभारी मंत्री कमल पटेल ने ट्वीट कर आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।

आज पूरे दिन खरगौन शहर में सब कुछ बंद रहेगा -

कलेक्टर अनुग्रहा पी. ने पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया है। इस संबंध में एडीएम मुजाल्दा ने का धारा 144 का जारी प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं। आजारी आदेश के मुताबिक, आवश्यक सेवाओं को छोड़कर आज शहर में सब कुछ बंद रहेगा। चिकित्सा व आवश्यक वस्तु अधिनियम में खाने पीने की सेवाओं में लगे लोगों को छूट रहेगी। पेपर होने या जरूरी होने पर राजस्व व पुलिस अफसरों को सूचना दे सकेंगे। जरूरी सेवाओं को छोड़कर कोई भी घर से बाहर नहीं निकलेगा। पांच लोग समूह में इकट्ठा नहीं होंगे।

Updated : 2022-04-12T16:21:34+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top