Home > Lead Story > बहादुरी की मिसाल बने ये जांबाज, 1 कीर्ति, 9 शौर्य चक्र, 84 वीरता पदक से सम्मानित

बहादुरी की मिसाल बने ये जांबाज, 1 कीर्ति, 9 शौर्य चक्र, 84 वीरता पदक से सम्मानित

बहादुरी की मिसाल बने ये जांबाज, 1 कीर्ति, 9 शौर्य चक्र, 84 वीरता पदक से सम्मानित
X

नईदिल्ली। विदेशी शासन से स्वतंत्रता प्राप्ति के 75वें वर्ष पर पूरा देश आज के दिन 'आजादी का अमृत महोत्सव' मना रहा है। पूरा देश देशभक्ति की भावना में डूबा हुआ है। इस अवसर पर तीनों सेनाओं के 09 जांबाजों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। इस बार भारतीय सेना के 154 बहादुर जवानों को पदकों से नवाजा गया है जिसमें आतंकियों को धूल चटाने वाले 06 जवानों को शौर्य चक्र मिला है। नौसेना के जहाज आईएनएस कोच्चि के कमांडिंग ऑफिसर कैप्टन सचिन रूबेन सिकेरा को भी शौर्य चक्र मिला है। वायुसेना के फ्लाइंग पायलट कैप्टन परमिंदर अंतिल और विंग कमांडर वरुण सिंह को भी उनकी बहादुरी के लिए शौर्य चक्र दिया गया है।

सेना के 15 बहादुरों को मिला मरणोपरांत सेना पदक -

स्वतंत्रता दिवस पर सेना के 06 जवानों को शौर्य चक्र दिए गए हैं जिनमें मेजर अरुण कुमार पांडे, मेजर रवि कुमार चौधरी, कैप्टन आशुतोष कुमार (मरणोपरांत), कैप्टन विकास खत्री, रायफलमैन मुकेश कुमार और जाट रेजिमेंट के सिपाही नीरज अहलावत हैं। इसके अलावा लेफ्टिनेंट कर्नल कृष्णकान्त बाजपेई, मेजर सुरेन्द्र सिंह लाम्बा, मेजर राहुल बालामोहन और मेजर अंकित दहिया को बार टू सेना मेडल (शौर्य) पदक दिया गया है। सेना में विभिन्न रैंकों पर कार्यरत 116 जवानों को सेना पदक (वीरता) से नवाजा गया है जिसमें सूबेदार सुखदेव सिंह, नायब सूबेदार रवीन्दर, नायब सूबेदार राजविंदर, हवलदार हरधन चंद्र रॉय, हवलदार चीकला प्रवीण कुमार, हवलदार गोकरण सिंह, नायक राजविंदर सिंह (पंजाब), सिपाही प्रशांत शर्मा, सिपाही रोहिन कुमार, सिपाही रियादा महेश्वर, ग्रेनेडियर्स रवि कुमार सिंह, ग्रेनेडियर्स प्रशांत सिंह, ग्रेनेडियर्स भूपेंदर, ग्रेनेडियर्स सुबोध घोष और एसडब्ल्यूआर जिलाजीत यादव को मरणोपरांत सम्मानित किया गया है।

मेंशन-इन-डिस्पैचेज पुरस्कार से 28 जवान सम्मानित -

इसके अलावा 'ऑपरेशन रक्षक' के लिए मेंशन-इन-डिस्पैचेज पुरस्कार से 28 जवानों को सम्मानित किया गया है जिसमें नायक अनीश थॉमस, मंडल प्रदीप साहेबराव को यह सम्मान मरणोपरांत मिला है। इसी तरह चीन सीमा पर पैन्गोंग झील के दक्षिणी किनारे पर पिछले साल 30 अगस्त की रात को रणनीतिक पहाड़ियों पर कब्ज़ा करने के लिए चलाये गए 'ऑपरेशन स्नो लेपर्ड' के दौरान शहीद हुए आर्म्ड रेजिमेंट के विक्रम सिंह को मरणोपरांत मेंशन-इन-डिस्पैचेज पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इसमें ऑपरेशन राइनो में शामिल रहे मेजर सौबम किनोबाबू सिंह, नायब सूबेदार प्रेम कुमार तमंग और असम की इन्फैंट्री बटालियन के अनल ज्योति नाथ भी शामिल हैं।

वायुसेना के दो फ्लाइंग पायलट को मिला शौर्य चक्र -

इस बार वायुसेना के दो फ्लाइंग पायलट को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। पहले नंबर पर फ्लाइंग (पायलट) ग्रुप कैप्टन परमिंदर अंतिल को असाधारण वीरता, व्यावसायिकता के अनुकरणीय मानकों और एयरोस्पेस सुरक्षा में योगदान के लिए शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। वह जनवरी, 2020 से सुखोई-30 एमकेआई स्क्वाड्रन के कमांडिंग ऑफिसर हैं। दूसरे नंबर पर शौर्य चक्र से सम्मानित विंग कमांडर वरुण सिंह हैं जो हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) स्क्वाड्रन में पायलट हैं। इसके अलावा अप्रैल, 2017 से तटरक्षक स्क्वाड्रन के साथ प्रतिनियुक्ति पर तैनात फ्लाइंग (पायलट) स्क्वाड्रन लीडर दीपक मोहनन और जुलाई, 2017 से सुखोई-30 एमकेआई स्क्वाड्रन में फ्लाइंग (पायलट) विंग कमांडर उत्तर कुमार को वायु सेना मेडल (वीरता) प्रदान किया गया है।

आईएनएस कोच्चि के कमांडिंग ऑफिसर शौर्य चक्र से सम्मानित -

स्वतंत्रता दिवस-2021 के अवसर पर वीरता पुरस्कारों से सम्मानित किए जा रहे जवानों की सूची में भारतीय नौसेना भी शामिल है। नौसेना के जहाज आईएनएस कोच्चि के कमांडिंग ऑफिसर कैप्टन सचिन रूबेन सिकेरा को भी शौर्य चक्र मिला है। इसके अलावा आईएनएस कोलकाता के कमांडिंग ऑफिसर कैप्टन प्रशांत हांडू, आईएनएस कलवरी के कमांडिंग ऑफिसर कमांडर सुनील एस कोरती, सीकिंग 42 बी के पहले पायलट और कैप्टन कमांडर बिपिन पणिकर, आईएनएस कोच्चि के डाइविंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट कमांडर राज कृष्ण मनु और आईएनएस शिकारा के एमसीए (उड़ान गोताखोर), प्रहलाद को नौसेना पदक (वीरता) से सम्मानित किया गया है।

Updated : 2021-10-12T16:07:13+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top