Top
Home > Lead Story > प्रधानमंत्री ने गुलमर्ग विंटर गेम्स का किया शुभारंभ कहा- खेल देश का सम्मान बढ़ाने का अवसर

प्रधानमंत्री ने गुलमर्ग विंटर गेम्स का किया शुभारंभ कहा- खेल देश का सम्मान बढ़ाने का अवसर

प्रधानमंत्री ने गुलमर्ग विंटर गेम्स का किया शुभारंभ  कहा- खेल देश का सम्मान बढ़ाने का अवसर
X

नईदिल्ली /कश्मीर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुलमर्ग में खेलो इंडिया विंटर गेम्स का वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन किया। इस प्रतियोगिता में देश भर से 1000 से अधिक खिलाड़ी भाग ले रहे है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि खेल मात्र एक प्रतिस्पर्धा नहीं है बल्कि यह देश का मान-सम्मान और ओलंपिक्स के पोडियम तक पहुंचने का अवसर भी हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि इन खेलों से जम्मू-कश्मीर में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और खेलों का स्तर भी और ऊंचा होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा की ये विंटर गेम्स में भारत की प्रभावी उपस्थिति के साथ ही जम्मू कश्मीर को इसका एक बड़ा हब बनाने की तरफ बड़ा कदम है। ये खेल शांति और विकास की नई ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए तैयार हैं। इन शीतकालीन खेलों से राज्य में एक नया खेल पारिस्थितिकी तंत्र विकसित करने में मदद मिलेगी।

खेल से देश की शक्ति का परिचय -

आज खेल एक ऐसा क्षेत्र बन गया है जो पूरी दुनिया में देश की छवि का भी, देश की शक्ति का भी परिचय कराता है। दुनिया के कई छोटे-छोटे देश खेल के कारण अपनी पहचान बनाते हैं।हम भारत में खेल विश्वविद्यालय खोल रहे हैं। हम यह सोच सकते हैं कि हम खेल विज्ञान और प्रबंधन को स्कूल स्तर तक कैसे ले जा सकते हैं। यह हमारे युवाओं को अधिक अवसर देगा और खेल अर्थव्यवस्था में भारत की भागीदारी बढ़ाएगा।

स्पोर्ट्स अब सिलेबस का हिस्सा -

उन्होंने कहा की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भी स्पोर्ट्स को बहुत ज्यादा महत्व दिया गया है। पहले स्पोर्ट्स को सिर्फ एक्स्ट्रा करिक्यूलर एक्टिविटी माना जाता था, अब स्पोर्ट्स सिलेबस का हिस्सा होगा। स्पोर्ट्स की ग्रेडिंग भी बच्चों की शिक्षा में काउंट होगी।जब आप खेलो इंडिया-विंटर गेम्स में अपनी प्रतिभा दिखाएं, तो ये भी याद रखिएगा कि आप सिर्फ एक खेल का ही हिस्सा नहीं हैं, बल्कि आप आत्मनिर्भर भारत के ब्रांड एंबेसेडर भी हैं। आप जो मैदान में कमाल करते हैं, उससे दुनिया भारत का मूल्यांकन करती है।

Updated : 2021-02-26T13:18:19+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top