Home > Lead Story > जानिए कौन हैं बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र शास्‍त्री? जिन पर है हुनमान जी की असीम कृपा..

जानिए कौन हैं बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र शास्‍त्री? जिन पर है हुनमान जी की असीम कृपा..

मध्य प्रदेश के छतरपुर स्थित बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री किसी न किसी वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं। अपने धारधार आवाज और अपनी कथाओं से धीरेंद्र शास्त्री ने भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में प्रसिद्धी हासिल की है।

जानिए कौन हैं बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र शास्‍त्री? जिन पर है हुनमान जी की असीम कृपा..
X

मध्य प्रदेश के छतरपुर स्थित बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री किसी न किसी वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं। अपने धारधार आवाज और अपनी कथाओं से धीरेंद्र शास्त्री ने भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में प्रसिद्धी हासिल की है। बीतों साल से ही वो लाइमलाइट में बने हुए हैं। धीरेंद्र शास्त्री अक्सर अपनी सभाओं में हिंदुओं से सनातन धर्म की रक्षा का आह्वान करते सुने जाते हैं। तो चलिए आज आपको बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री को लेकर बताते हैं। जिन्होंने अपनी छोटी से उम्र में ही जबरदस्त लोकप्रियता हासिल कर ली है।

कौन हैं पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री?

बता दें कि, पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री मूल रूप से मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं। इन्हें लेकर लोगों का दावा है कि बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री को हनुमान जी के साक्षात दर्शन हुए हैं। अपने चमत्कार के कारण महाराज धीरेंद्र शास्त्र दुनियाभर में जाने जाते हैं। ये अपने भक्तों की समस्याओं का समाधान पर्ची द्वारा करते हैं। ऐसा भी माना जाता है कि जो भक्त बागेश्वर धाम में अर्जी लगाते हैं, उसकी सभी समस्याओं का उपाय धीरेंद्र शास्त्री एक कागज में लिखकर बता देते हैं।


शास्त्री मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में पड़ने वाले प्रसिद्ध व प्राचीन धार्मिक स्थल बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर और पुजारी हैं। बागेश्वर धाम के दर्शन के लिए देश के कोने-कोने से लोग आते हैं और अपनी समस्याओं की अर्जी लगाते हैं।

इसके साथ ही महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री विख्यात कथावाचक भी हैं और दिव्य दरबार लगाते हैं। बता दें कि, बागेश्वर धाम में पीढ़ी दर पीढ़ी प्रसिद्ध संत दरबार लगाते आए हैं। धीरेंद्र शास्त्री से पहले उनके दादाजी भगवान दास गर्ग दरबार लगाते थे।

वहीं धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री विवादों में भी जबरदस्त रहते हैं। कई लोग उनके उपाय को चमत्कार बताते हैं और कुछ अंधविश्वास, जिसे लेकर कई बार विवाद हो चुका है। इन सबके बावजूद बाबा के दरबार में लाखों-करोड़ों की संख्या में भक्त आते हैं।

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का परिचय

  • धीरेन्द्र शास्त्री का जन्म 4 जुलाई 1996 को मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में हुआ था। बता दें कि इसी स्थान पर हनुमान जी को समर्पित प्राचीन मंदिर बागेश्वर धाम है। जहां के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री हैं।
  • धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के दादाजी पंडित भगवान दास गर्ग ने चित्रकूट के निर्मोही अखाड़े से दीक्षा प्राप्त की थी। उन्होंने बागेश्वर धाम का जीर्णोद्धार कराया था। धीरेंद्र शास्त्री को लेकर कहा जाता है कि शास्त्री अपने दादा जी को ही गुरु मानते हैं।
  • धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री से पहले बागेश्वर धाम में इनके दादाजी भगवान दास गर्ग दरबार लगाते थे।
  • खबरों की मानें तो धीरेन्द्र शास्त्री के पिताजी रामकृपाल गर्ग नशा बहुत करते थे जिसकी वजह से बागेश्वर धाम का वो कामकाज नहीं कर पाते थे। वहीं धीरेन्द्र शास्त्री की माताजी का नाम सरोज गर्ग है, जोकि एक ग्रहणी हैं।
  • धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का एक छोटा भाई भी है जिसका नाम शालिग्राम गर्ग है जो बागेश्वर धाम का कामकाज देखता है।
  • धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गढ़ा गांव के सरकारी स्कूल से ही की है। फिर इन्होंने बीए की डिग्री हासिल की। हालांकि कुछ रिर्पोट्स में ऐसा भी दावा किया गया है कि धीरेंद्र शास्त्री आठवीं पास हैं।
  • धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने महज 12 साल की उम्र में प्रवचन देना शुरू कर दिया था।
  • ऐसा भी कहा जाता है कि बागेश्वर धाम के पंडित धीरेन्द्र शास्त्री पर बालाजी हनुमान जी की असीम कृपा है और उन्हें कई सिद्धियां प्राप्त हैं।

Updated : 4 July 2024 10:16 AM GMT
Tags:    
author-thhumb

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Top