Top
Home > Lead Story > कमलनाथ की रैली में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां; लॉकडाउन के नियम तोड़ने का भाजपा पर आरोप

कमलनाथ की रैली में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां; लॉकडाउन के नियम तोड़ने का भाजपा पर आरोप

कमलनाथ की रैली में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां; लॉकडाउन के नियम तोड़ने का भाजपा पर आरोप

भोपाल/अशोकनगर। प्रदेश कांग्रेस द्वारा आज से उपचुनाव के लिए प्रचार - प्रसार का शंखनाद कर दिया है कोरोना महामारी के बीच हुए बदनावर में कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ सम्मिलित हुए। यहाँ उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा की कार्यकर्ता कांग्रेस की आन,बान और शान हैं। भाजपा पर हमला करते हुए हुए बोले की बदनावर समेत अन्य सभी विधानसभाओं में प्रजातांत्रिक मूल्यों का अपमान करने वाले लोकतंत्र के हत्यारों को सबक सिखाने के लिए प्रदेशवासी दृढ़ संकल्पित है। लेकिन इस राजनीतिक प्रचार के बीच मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने रैली के दौरान कोरोना के निमित्त कोई जरुरी कदम नहीं उठाये जिसमे लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों की जमकर धज्जियां उड़ी। फोटो में साफ़ देखा जा सकता है की लोग एक दूसरे से सटकर खड़े है इससे बदनावर के लोगो में संक्रमण का खतरा काफी बढ़ गया है।


लॉकडाउन तोड़ने पर कांग्रेस का भाजपा पर आरोप : नव नियुक्त मंत्री द्वारा लॉकडाउन तोडऩे के विरोध में कांग्रेस ने की कार्रवाई की मांग

अशोकनगर शहर कांग्रेस अध्यक्ष रीतेश जैन और ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सुधीर शर्मा का आरोप है कि बीते रविवार को राज्यमंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव का अशोकनगर आगमन हुआ था, जिनके स्वागत के लिए जगह-जगह तोरण द्वार लगाए गए थे। जहां लॉकडाउन तोड़ते हुए सेकड़ों की संख्या में लोगों ने एकजुट होकर उनका स्वागत किया। जहां सामाजिक दूरी नहीं रखी गई और न मास्क का उपयोग किया गया।

आरोप लगाते हुए कहा है कि रविवार को शहर में सम्पूर्ण लॉकडाउन रहता है, फिर भी सत्ता पक्ष के लोगों और स्वयं राज्यमंत्री के द्वारा नियमों की धज्जियां उड़ाईं गईं। मंगलवार को कांग्रेसी कलेक्ट्रेट परिसर में एकत्रित हुए और नारेबाजी करते हुए हाल ही में राज्यमंत्री बने बृजेन्द्र यादव के विरुद्ध पुलिस अधीक्षक से कार्रवाई की मांग की गई।

प्रदेश में खुलेंगे 3 कार्यालय

प्रदेश कांग्रेस द्वारा निर्णय लिया गया है की आगामी 24 सीटों पर उपचुनाव को देखते हुए 3 कार्यालय खोले जायेंगे जिसमे ग्वालियर, इंदौर और भोपाल प्रमुख हैं. कांग्रेसियों का मानना है की ग्वालियर अंचल में सबसे ज्यादा 16 सीटों पर उपचुनाव होने हैं जिससे वहां रहकर बारीकी से नजर राखी जा सकती है. कहा जा रहा है की कमलनाथ स्वयं ग्वालियर आकर मोनिटरिंग करेंगे

गौरतलब है की कमलनाथ ने अपने 15 महीने के कार्यकाल में एक भी बार ग्वालियर में विकास कार्यों की दृष्टि से दौरा नहीं किया. सिर्फ अल्प प्रवास पर शादी समारोह, अन्य आयोजनों पर आना हुआ था।




Updated : 2020-07-20T16:24:11+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top