Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र : ओवरटेक करते समय नर्मदा नदी में गिरी बस, सभी यात्रियों की मौत, 15 शव निकाले गए

मप्र : ओवरटेक करते समय नर्मदा नदी में गिरी बस, सभी यात्रियों की मौत, 15 शव निकाले गए

  • मप्र में धार-खरगोन सीमा पर खलघाट में हादसा, प्रधानमंत्री और मप्र - महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने दुख जताया
  • ओवरटेक करते समय रैलिंग तोड़ नर्मदा में समाई बस

मप्र : ओवरटेक करते समय नर्मदा नदी में गिरी बस, सभी यात्रियों की मौत, 15 शव निकाले गए
X

धार/वेब डेस्क। धार और खरगोन जिले की सीमा पर धामनोद थाना क्षेत्र अंतर्गत खलघाट के पास सोमवार सुबह यात्रियों से भरी बस पुल की रेलिंग तोड़ते हुए नर्मदा नदी में गिर गई। इस दौरान घाट पर मौजूद लोग और नदी में चल रहे नाविक बिना समय गंवाए बस के पास पहुंचे और यात्रियों को निकालने की कोशिश शुरू की। सूचना मिलते ही पुलिस राहत और बचाव दल के साथ पहुंची। अब तक 13 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं। कुछ यात्रियों को बचा लिया गया है। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है।

हादसे का शिकार हुई महाराष्ट्र सड़क परिवहन निगम की यह बस इंदौर से महाराष्ट्र जा रही थी। खलघाट के पास यह हादसा हो गया। क्रेन के सहारे बस को नदी से निकाल लिया गया है। इंदौर कमिश्नर डॉ. पवन कुमार शर्मा और अन्य अधिकारी खलघाट के लिए रवाना हो चुके हैं। बताया गया है कि इस बस ने खलघाट में 10 मिनट का ब्रेक लिया था। इसके बाद आगे बढ़ने पर गलत दिशा से आ रहे वाहन को बचाने के चक्कर में पुल की रेलिंग तोड़ते हुए नदी में जा गिरी। बस में कितने लोग सवार थे, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। फिलहाल रेस्क्यू जारी है।


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान देने और परिवारों को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि जिला प्रशासन की टीम खलघाट पर मौजूद है। बस को निकाल लिया गया है। खरगोन और धार जिला प्रशासन के साथ वह निरंतर संपर्क में हैं। घायलों के समुचित इलाज की व्यवस्था के निर्देश दिये हैं। दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार स्वयं को अकेला न समझे, संपूर्ण प्रदेश उनके साथ है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस घटना पर दुख जताया है। प्रधानमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए सहायता देने की घोषणा की है। घायलों को 50 हजार रुपए की मदद दी जाएगी। मप्र मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए सहायता देंगे। साथ ही महाराष्ट्र सरकार ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए देने की घोषणा की है। इस तरह मृतकों के परिजनों को कुल 16-16 लाख रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी।

हादसे में इन्होने गवाई जान

- चेतन पिता राम गोपाल जांगिड़, नांगल कला गोविंदगढ़ (जयपुर - राजस्थान)

- जगन्नाथ (70) पुत्र हेमराज जोशी, मल्हारगढ़ (उदयपुर - राजस्थान)

- प्रकाश (40) पुत्र श्रवण चौधरी, शारदा कॉलोनी अमलनेर (जलगांव - महाराष्ट्र)

- निंबाजी (60) पुत्र आनंदा पाटिल, निवासी पीलोदा अमलनेरगां (जलगांव - महाराष्ट्र)

- चंद्रकांत (45) पुत्र एकनाथ पाटील, अमलनेर (जलगांव - महाराष्ट्र)

- अरवा (27) पत्नी मुर्तजा बोरा, मूर्तिजापुर (अकोला - महाराष्ट्र)

- सैफुद्दीन पुत्र अब्बास, नूरानी नगर (इंदौर - मध्यप्रदेश )

- राजू पुत्र तुलसीराम मोर, रावतभाटा (चित्तौड़गढ़ - राजस्थान)

- अविनाश पुत्र संजय परदेसी, पाटन सराय अमलनेर (जलगांव - महाराष्ट्र)

- विशाल (33) पुत्र सतीश बहरे, विर्देल (धुले महाराष्ट्र)

- रुखमणीबाई पत्नी नारायणलाल जोशी (उदयपुर- राजस्थान)

Updated : 2022-08-23T11:02:50+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top