Home > Lead Story > स्वदेशी लड़ाकू हेलीकॉप्टर 'प्रचंड' दुश्मन का पल भर में कर देगा संहार, जानिए क्या है खासियत

स्वदेशी लड़ाकू हेलीकॉप्टर 'प्रचंड' दुश्मन का पल भर में कर देगा संहार, जानिए क्या है खासियत

स्वदेशी लड़ाकू हेलीकॉप्टर प्रचंड दुश्मन का पल भर में कर देगा संहार, जानिए क्या है खासियत
X

नईदिल्ली। विश्व का पहला स्वदेशी हल्का अटैक हेलीकॉप्टर सोमवार को औपचारिक रूप से वायुसेना के बेड़े में शामिल हो गया। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने खुद हेलीकॉप्टर में 15 मिनट उड़ान भरकर इसकी ताकत को परखा। वायुसेना की परंपरा के अनुसार 'वाटर कैनन सैल्यूट' देकर हेलीकॉप्टर का स्वागत किया गया। रक्षामंत्री ने सबसे पहले 'सर्वधर्म पूजा' की और इसके बाद एलसीएच के सामने खड़े होकर फोटो भी खिंचवाई। इस लड़ाकू हेलीकॉप्टर को 'प्रचंड' के नाम से जाना जाएगा।

उन्होंने कहा, "प्रचंड को वायुसेना में शामिल करने के लिए नवरात्रि से अच्छा समय और राजस्थान की धरती से अच्छी जगह नहीं हो सकती है। यह भारत का विजय रथ है। LCH सारी चुनौतियों पर खरा उतरा है। दुश्मनों को आसानी से चकमा दे सकता है। इसके नाम के साथ भले ही लाइट जुड़ा हो, लेकिन इसका काम भारी है।"

आइए जानते हैं इस हेलीकॉप्टर की खासियत और इनकी ताकत -

HAL ने किया निर्माण -

इन हेलीकॉप्टरों का निर्माण भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) किया है। अधिकारियों ने बताया की इसे ऊंचाई वाले इलाकों में तैनात करने के लिए प्राथमिक रूप से डिजाइन किया गया है।लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर की रफ्तार अधिकतम 268 किलोमीटर प्रति घंटा है और इसकी रेंज 550 किलोमीटर है। यह हेलीकॉप्टर लगातार 3 घंटे 10 मिनट की उड़ान भर सकता है। अधिकतम 6500 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है।

हर मिनट में 750 गोलियां दागी -

इसमें 20 एमएम की गन होती है, जो हवा से हवा में और हवा से जमीन पर हमला कर सकती है। इसके अलावा इसमें चार हार्ड प्वाइंट्स होते हैं यानी रॉकेट्स, मिसाइल और बम एक साथ लगाए जा सकते हैं।इसकी कैनन से हर मिनट में 750 गोलियां दागी जा सकती हैं। यह एंटी टैंक और हवा में मारने वाली मिसाइलें से भी लैस किया जा सकता है।

रडार से बचने में सक्षम -

ये हेलीकॉप्टर दुश्मन की रडार से बचने में सक्षम है। इसमें रडार एंड लेजर वॉर्निंग सिस्टम लगा है। ये सिस्टम इस हेलीकॉप्टर को मिसाइल का टारगेट बनते ही सूचना दे देते हैं।इसके अलावा ये हेलिकॉप्टर रात के समय में किसी भी आपात स्थिति में हमला करने के लिए तैयार किए गए हैं।

हर मौसम के लिए परफेक्ट -

अधिकारियों ने बताया की ये हल्के लड़ाकू हेलिकॉप्टर हर मौसम में दुश्मन का मुकाबला करने में सक्षम हैं। ये हेलिकॉप्टर अधिक सक्रिय, गतिशील, एक्सटेंडेड रेंच, ऊंचाई के इलाकों, चौसीबों घंटे तैनाती, सर्च और रेस्क्यू, दुश्मन के एयर डिफेंस पर हमला और काउंटर इमर्जेंसी ऑपरेशनमें अहम भूमिका निभाने में सक्षम हैं।

Updated : 2022-11-04T13:46:09+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top