Home > Lead Story > सावधान ! कबाब- चिकन में मिलाया जाता है, आर्टिफिशियल फूड कलर, कर्नाटक सरकार ने लगाया बैन

सावधान ! कबाब- चिकन में मिलाया जाता है, आर्टिफिशियल फूड कलर, कर्नाटक सरकार ने लगाया बैन

कबाब ,चिकन और मछली के अलावा वेजीटेरियन फूड में आर्टिफिशियल फूड कलर मिलाया जाता है। जिसे लेकर कर्नाटक सरकार ने हाल ही में बैन लगाया है।

सावधान ! कबाब- चिकन में मिलाया जाता है, आर्टिफिशियल फूड कलर, कर्नाटक सरकार ने लगाया बैन
X

Artificial Food Colour: अक्सर हम व्यस्त जीवन शैली के चलते घर का बना खाना खा नहीं पाते हैं जिसका असर हमारी सेहत पर पड़ता है। इसके लिए हर कोई बाहर का खाना समय की कमी के कारण खाते हैं । लेकिन आपको सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि बाहर मिलने वाले कबाब ,चिकन और मछली के अलावा वेजीटेरियन फूड में आर्टिफिशियल फूड कलर मिलाया जाता है। जिसे लेकर कर्नाटक सरकार ने हाल ही में बैन लगाया है, कहा गया कि इस तरह खाने में फूड कलर मिलाने से सनसेट येलो और कारमोइसिन की मात्रा बढ़ जाती है जो सेहत को नुकसान पहुंचती है। इतना ही नहीं कैंसर का खतरा भी होता है।

कर्नाटक के फूड सेफ्टी विभाग ने की जांच

इस प्रकार से खाने में मिलाए जाने वाले फूड कलर को लेकर कर्नाटक कर्नाटक के 'स्टेट फूड एंड सेफ्टी क़्वालिटी विभाग' ने 39 अलग-अलग कबाब डिशेज की जांच की थी. इसमें से 7 सैंपल में पाया गया कि आर्टिफिशियल कलर का काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे खाने का कलर तो बदल जाता हैं लेकिन इसके सेवन से सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसके अलावा जांच में यह भी पाया गया कि, फूड कलर की वजह से कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता हैं।

रेस्तरां, स्ट्रीट फूड स्टॉल पर लगेगा जुर्माना

कर्नाटक सरकार ने इस मामले में कहा कि, खाने की चीजों में जो भी रेस्तरां, स्ट्रीट फूड का स्टॉल आर्टिफिशियल फूड कलर मिलाते हैं उन्हें कानून का उल्लंघन करने के मामले में जेल और भारी जुर्माने का दंड भुगतना पड़ेगा। इसके लिए 2006 और 2011 फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एक्ट के तहत माना गया है कि, इन नियमों का उल्लंघन करेंगे उन्हें 7 या आजीवन कारावास भी हो सकता है और कम से कम 10 लाख जुर्माना भरना पड़ेगा।

इन फूड्स में मिलाए जाते हैं फूड कलर

आपको बता दें कि, खाने की चीजों में शामिल कॉटन कैंडी, स्वीट कैंडी, अनाज, आलू के चिप्स, सॉस, आइसक्रीम और कई तरह के पेय पदार्थों में आर्टिफिशियल कलर मिलाए जाते हैं। कुछ फूड कलर जैसे नीला 1, लाल 40, पीला 6 खाने से शरीर में एलर्जी ट्रिगर हो सकती है.पीला 5 फूड कलर से एस्पिरिन एलर्जी और अस्थमा की बीमारी हो सकती है। इसे लेकर यह भी रिसर्च में पाया गया कि, कलर मिलाए हुए फूड खाने से एलर्जी हो सकती है।

Updated : 25 Jun 2024 2:05 PM GMT
Tags:    
author-thhumb

Deepika Pal

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Top