Home > Lead Story > कानपुर : CM योगी ने मनीष के परिजनों से की मुलाकात, बेटे ने पैर छूकर लिया आशीर्वाद

कानपुर : CM योगी ने मनीष के परिजनों से की मुलाकात, बेटे ने पैर छूकर लिया आशीर्वाद

मुख्यमंत्री ने मनीष की पत्नी को केडीऐ OSD के पद पर नियुक्त करने का निर्देश दिया। साथ ही मुआवजा राशि बढाकर देने और केस गोरखपुर से कानपुर ट्रांसफर करने की बात मान ली है।

कानपुर : CM योगी ने मनीष के परिजनों से की मुलाकात, बेटे ने पैर छूकर लिया आशीर्वाद
X

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर पुलिस की कथित पिटाई में मारे गए कारोबारी मनीष गुप्ता के परिजनों से पुलिस लाइन में मुलाकात की। बातचीत हेलीपैड के पास बने एक कमरे में हुई। जिसमें मुख्यमंत्री ने परिवार की सभी मांगों पर सहानुभूति पूर्वक कार्रवाई शुरू करने का भरोसा दिलाया है। इस दौरान भावुक क्षण भी आया जब मनीष गुप्ता के पांच वर्षीय बेटे ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पैर छुए और उन्होंने भी बच्चे के सिर हाथ रखकर आशीर्वाद दिया।

पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि "मुख्यमंत्री ने गोरखपुर की घटना से संबंधित पीड़ित परिवार से मिलने की स्वयं इच्छा व्यक्त की थी कि जो पीड़ित परिवार है उनको बुला लिया जाए और उनसे उनकी मुलाकात कराई जाए। इस संबंध में मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी, उनके पुत्र, पिता और एक अन्य परिजन से मुख्यमंत्री ने पुलिस लाइन हेलिपैड के पास एक कमरे में भेंट की। परिवार ने अपनी समस्याएं उनको बतायीं और उनसे तीन अनुरोध किये। एक सरकारी नौकरी के लिए जिसके लिए मुख्यमंत्री ने सहमति व्यक्त की, जिसके लिए केडीए में ओएसडी के रूप में एक प्रस्ताव भेजा जा रहा है। दूसरा, केस को सीबीआई को अनुशंसित दिया जाए और कानपुर स्थित पुलिस टीम द्वारा इसकी विवेचना की जाए। जिसपर भी मुख्यमंत्री ने प्रस्ताव मांगा है और आदेश उस पर आएगा। तीसरा, मुआवजे को बढ़ाने के लिए परिवार के लोगों ने अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने उस पर भी सहानुभूति पूर्वक विचार करने का निर्देश दिया। तीनों प्रस्ताव तैयार हो रहे हैं, उम्मीद है कि एक दो दिन में सभी निर्देश प्राप्त हो जाएंगे। परिवार के लोग मुलाकात से बहुत संतुष्ट हैं। हमारी कोशिश है कि निष्पक्ष विवेचना हो पाए जिसमें किसी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।"

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने बहुत ही प्यार के साथ मनीष के पांच वर्षीय छोटे पुत्र से बात की उन्हें आशीर्वाद दिया, उनके बेटे ने पैर भी छुए। सिर पर हाथ रखने से निश्चित रूप से पूरे परिवार का हौसला बढ़ेगा। क्योंकि यह घटना बहुत दुखद है लेकिन सरकार की ओर से जितना परिवार को मजबूत किया जा सकता है वह प्रयास किया जा रहा है।

गोविन्दनगर भाजपा विधायक सुरेंद्र मैथानी की ओर से बताया गया कि, मुख्यमंत्री ने उनकी पत्नी से कहा की पूरी सरकार आपके साथ है। अपराधी कोई भी हो, अपराधी अपराधी होता है और उसके प्रति उत्तर प्रदेश सरकार जीरो टॉलरेंस नीति के अंतर्गत ही सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी। मुख्यमंत्री ने उनकी पत्नी की शिक्षा पूछकर केडीऐ वीसी को बुलाया और प्राधिकरण OSD के पद पर नियुक्त करने का निर्देश दिया। साथ ही मुख्यमंत्री ने 10 लाख रुपये के अलावा भी मुआवजा राशि बढाकर देने की बात कही। केस ट्रांसफर पर उन्होंने कहा कि हमें कोई आपत्ति नहीं है, आप सीबीआई जांच चाहे तो हम सीबीआई जांच के लिए भी से संस्तुति कर देंगे। केस ट्रांसफर पर उन्होंने कहा कि केस कानपुर ट्रांसफर किया जाएगा और यहीं एक कमेटी बनाकर अलग से इसकी अविलम्ब जांच कराई जाएगी, हर हाल में कड़ी कानूनी कार्रवाई आपको जल्द देखने को मिलेगी। इस पर हम किसी भी तरह का समझौता करने के लिए तैयार नहीं है।

Updated : 30 Sep 2021 1:58 PM GMT
Tags:    

Web Desk

Web Desk, Noida, Uttar Pradesh


Next Story
Share it
Top