Home > Lead Story > कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़, गहलोत के मंत्री बोले- ऐसे अपराधियों को ठोक देना चाहिए

कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़, गहलोत के मंत्री बोले- ऐसे अपराधियों को ठोक देना चाहिए

कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़, गहलोत के मंत्री बोले- ऐसे अपराधियों को ठोक देना चाहिए
X

उदयपुर। तालिबानी अंदाज में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के बाद जिले में लोगों के मन में जबरदस्त आक्रोश है। उनका आज अंतिम संस्कार कर दिया गया। अंत्येष्टि में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। इस दौरान कन्हैयालाल अमर रहे के नारे लगे। घटना के विरोध में पूरा शहर बंद है। किसी भी हालात से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस भी तैनात की गई थी।

कन्हैयालाल का शव जब पोस्टमार्टम के बाद घर लाया गया तो कोहराम मच गया। कन्हैयालाल की पत्नी और बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। पत्नी ने कहा, 'आरोपियों को फांसी दो, आज उसने हमारे पति को मारा है, कल दूसरों को मारेंगे।

गहलोत सरकार के कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि घटना के बाद उबल रहा हूं। दोषियों को ठोक देना चाहिए। आरोपियों को चार दिनों में फांसी पर लटकाना चाहिए।उन्होंने ट्वीट कर कहा "एक निहत्थे व्यक्ति पर धोखे से चाकू मारकर हत्या करना महपाप है ,धर्म कायरर्ता और धोखा नही सिखाता हत्या करने वालों को जब पुलिस ठोक के मारेगी तब दर्द का पता चलेगा । अपराधी कोई भी हो उसको फाँसी पर लटकाना और क़ानून की ताक़त का एहसास कराना ज़रूरी है ॥"

राज्य सरकार ने एक एसआईटी का गठन किया है। इस घटना में प्रधानमंत्री को धमकी देने मामले की जांच के लिए राष्ट्रीय जांच एजेन्सी उदयपुर पहुंच रही है। गहलोत सरकार ने पीड़ित परिवार को 31 लाख रुपये का मुआवजा और परिवार के दो सदस्यों को संविदा पर नौकरी देने का ऐलान किया है। राज्य सरकार ने संबंधित चौकी इंचार्ज एएसआई को निलंबित कर दिया है। घटना के बाद आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है।


Updated : 2022-07-02T13:31:19+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top