Home > Lead Story > मोहाली में इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमला, मुख्यमंत्री ने डीजीपी से मांगी रिपोर्ट

मोहाली में इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमला, मुख्यमंत्री ने डीजीपी से मांगी रिपोर्ट

मोहाली में इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमला, मुख्यमंत्री ने डीजीपी से मांगी रिपोर्ट
X

मोहाली। पंजाब के मोहाली में इंटेलिजेंस ब्यूरो के दफ्तर के बाहर एक धमाका हुआ है। यह धमाका सोमवार शाम साढ़े सात बजे के आसपास हुआ है।जानकारी के मुताबिक धमाका इतना तेज था कि दफ्तर के कांच टूट गए। हालांकि धमाके में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। हमले के बाद मुख्यमंत्री भगवन्त मान ने डीजीपी से रिपोर्ट तलब कर ली है। सोमवार रात हुई इस घटना के बाद मंगलवार सुबह पंजाब के डीजीपी वीके भावरा मुख्यमंत्री भगवन्त मान के पास पहुँचे और उन्हें पूरे घटनाक्रम की विस्तृत जानकारी दी।

पंजाब के मोहाली स्थित इंटेलीजेंस हेडक्वार्टर में रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (आरपीजी) हमला हुआ था। हालांकि इस हमले में किसी की जान नहीं गई। जिस इमारत पर हमला हुआ वहां हर मंजिल पर सीसीटीवी लगे हुए हैं। यह इमारत हाई सिक्योरिटी जोन में आती है।हमले के बाद रातभर सीसीटीवी खंगाले गए। पिछले एक सप्ताह के दौरान यहां आए लोगों का ब्यौरा जुटाया जा रहा है। सीसीटीवी से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार रात एक स्विफ्ट गाड़ी मुख्यालय के बाहर आई थी, उसमें से एक नौजवान उतरता दिखाई दिया है। जिसके बाद यह हमला हुआ है। पुलिस अब इस गाड़ी की तलाश कर रही है।

मंगलवार सुबह डीजीपी ने मुख्यमंत्री भगवन्त मान के साथ मुलाकात करके मोहाली घटना पर प्रारंभिक रिपोर्ट दे दी है। माना जा रहा है मुख्यमंत्री भगवन्त मान आज मोहाली में घटनास्थल का दौरा कर सकते हैं। इस बीच फोरेंसिक विशेषज्ञ टीम ने भी मौके से कई सैंपल एकत्र कर लिए। मुख्यालय पर दागे गए ग्रेनेड के बारे में भी जानकारी हासिल करने के लिए सेना की पश्चिमी कमान से संपर्क किया जा रहा है।

पुलिस महानिदेशक वीके भावरा ने बताया कि पुलिस कई पहलुओं के आधार पर जांच कर रही है। इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हुए हमले में इस्तेमाल किया गया ग्रेनेड करीब छह साल पहले पठानकोट में हुए हमले से मेल खाता है।चंडीगढ़ व हरियाणा पुलिस के साथ इस बारे सूचना साझा की गई है।चंडीगढ़ की बुड़ैल जेल के पास भी कुछ दिन पहले विस्फोटक मिल चुका है। दोनों घटनास्थलों में अधिक दूरी नहीं है।

उन्होंने बताया कि अभी तक इस बारे में पुख्ता जानकारी नहीं है लेकिन ऐसे संकेत मिले हैं कि पठानकोट में वर्ष 2016 के दौरान हुए आतंकी हमले में इस्तेमाल ग्रेनेड व मोहाली हमले के इस्तेमाल ग्रेनेड मेल खाते हैं। उन्होंने कहा आतंकी हमले की घटना से इनकार नहीं किया जा सकता। हमले के आतंकी कनेक्शन खंगालने में पुलिस टीमें काम कर रही हैं।

डीजीपी ने बताया कि मोहाली जिले के सोहाना पुलिस थाने में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पंजाब में रात को ही अलर्ट घोषित कर दिया गया था। सभी सीमाओं को सील कर सर्च की जा रही है। बहुत जल्द इन हमले के सुराग मिलेंगे।

Updated : 2022-05-10T15:20:37+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top