Home > Lead Story > धारदार हथियारों के साथ महपंचायत में शामिल किसानों का उपद्रव शुरू, लघु सचिवालय घेरा

धारदार हथियारों के साथ महपंचायत में शामिल किसानों का उपद्रव शुरू, लघु सचिवालय घेरा

धारदार हथियारों के साथ महपंचायत में शामिल किसानों का उपद्रव शुरू, लघु सचिवालय घेरा
X

Image Credit : tikri updates 

करनाल। हरियाणा के करनाल में किसान संगठनों और प्रशासन के बीच चर्चा के विफल होने के बाद कथित किसानों ने उपद्रव शुरू कर दिया है। किसान बैरिकेड्स तोड़ते हुए लघु सचिवालय पहुंच गए और गेट के बाहर धरना दे रहे है। जिसके बाद से यहां तनाव पूर्ण स्थिति बनी है।

किसान संगठनों ने आज 28 अगस्त को हुए लाठीचार्ज के बाद दर्ज किए गए मामलों काे रद्द करने की मांग को लेकर मंगलवार को करनाल में महापंचायत की। इसे लेकर किसान नेताओं और प्रशासन के बीच हुई वार्ता में दोनों पक्षों के बीच सहमति नहीं बन पाई।

बैरिकेड्स तोड़े -

इसके बाद किसानों ने उग्र प्रदर्शन शुरू कर दिया। किसान करनाल अनाज मंडी से निकल कर लघु सचिवालय की ओर बढ़ने लगे। पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रोकने की कोशिश की लेकिन वह बैरिकेड्स तोड़ते हुए लघु सचिवालय पहुंच गए। किसान लघु सचिवालय गेट के बाहर धरने और बैठ गया। इस दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने राकेश टिकैत और योगेंद्र यादव समेत कुछ किसान नेताओं को हिरासत में लिया। लेकिन थोड़ी देर बाद इन्हें छोड़ दिया गया।

धारदार हथियारों से लैस -

पुलिस द्वारा जारी एक बयान में कहा गया की इंटेलीजेंस रिपोर्ट के अनुसार महापंचायत में शामिल किसान लाठी, जेली, लोहे की रॉड से लैस होकर पहुंचे है। पुलिस ने किसान नेताओं से कहा की ऐसे असामाजिक तत्वों को कार्यक्रम स्थल से बाहर जाने के लिए कहा जाए। नेताओं के अनुरोध के बाद भी ये लोग महापंचायत स्थल पर बने रहे। इसके बाद पुलिस और प्रशासन ने शरारती तत्वों को कानून हाथ में न लेने और सार्वजनिक व्यवस्था बनाए रखने की चेतावनी दी है। पुलिस ने कहा की । ऐसे सभी तत्वों से कानून के अनुसार सख्ती से निपटा जाएगा।

Updated : 2021-10-12T16:03:31+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top