Latest News
Home > Lead Story > प. बंगाल में 8, असम में 3 चरणों में होगा मतदान, 2 मई को आएंगे परिणाम

प. बंगाल में 8, असम में 3 चरणों में होगा मतदान, 2 मई को आएंगे परिणाम

  • तमिलनाडु एवं केरल में एक चरण में मतदान

प. बंगाल में 8, असम में 3 चरणों में होगा मतदान, 2 मई को आएंगे परिणाम
X

नईदिल्ली। देश के 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा के लिए चुनाव आयोग की प्रेस कांफ्रेंस आयोजित हुई। ये प्रेस कांफ्रेस दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित हुई। इस दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त ने विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान किया।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने प बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करते हुए बताया की 8 राज्यों में मतदान होगा। जिसमें पहला चरण- 27 मार्च को होगा, दूसरा- 1 अप्रैल, तीसरा- 6 अप्रैल, चौथा- 10 अप्रैल, पांचवां चरण- 17 अप्रैल, छठा चरण- 22 अप्रैल, सातवां चरण- 26 अप्रैल, आठवें चरण का मतदान- 29 अप्रैल को होगा।

असम में 3 चरणों में चुनाव -

मुख्य चुनाव आयुक्त ने पांच राज्यों की विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान करते हुए बताया की असम में 3 चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे। प्रथम चरण का मतदान- 27 मार्च, दूसरे चरण का मतदान- 1 अप्रैल और तीसरे चरण का मतदान -6 अप्रैल को होगा।

तमिलनाडु एवं केरल में एक चरण में मतदान -

उन्होंने कहा की तमिलनाडु, पुडुचेरी एवं केरल विधानसभा के लिए 6 अप्रैल को मतदान होगा। 2 मई को चुनाव परिणाम घोषित होगा।

824 विधानसभा क्षेत्रों में होगा चुनाव -

इससे पहले मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा की इन चुनावों के दौरान कुल 824 विधानसभा क्षेत्र चुनाव के लिए जाएंगे।तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल, असम और पुदुचेरी के 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर 18.68 करोड़ मतदाता वोट डालेंगे। 31 मई तक असम विधानसभा का कार्यकाल है। यहां 126 विधानसभा सीटें है। जिसमें 26, एससी -8, एसटी -16 वहीँ तमिलनाडु का कार्यकाल 24 मई तक है। यहां 234 सीटों के लिए चुनाव होना है। एससी -44, एसटी -2; मई 30 तक डब्ल्यूबी विधानसभा की अवधि, सीटें 294, एससी -68, एसटी -16 है।

मतदान केंद्रों की बढ़ाई संख्या -

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा असम में 2016 विधानसभा चुनाव में 24,890 चुनाव केंद्र थे, 2021 में चुनाव केंद्रों की संख्या 33,530 होगी। तमिलनाडु में 2016 विधानसभा चुनाव में 66,007 चुनाव केंद्र थे, 2021 में चुनाव केंद्रों की संख्या 88,936 होगी। वहीँ केरल में पहले 21,498 चुनाव केंद्र थे, अब यहां चुनाव केंद्रों की संख्या 40,771 होगी। पश्चिम बंगाल में 2016 में 77,413 चुनाव केंद्र थे अब 1,01,916 चुनाव केंद्र होंगे।



Updated : 2021-10-12T16:24:44+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top