Top
Home > Lead Story > सिद्धगंगा मठ के प्रमुख डॉ. शिवकुमार स्वामी का 111 वर्ष की उम्र में निधन

सिद्धगंगा मठ के प्रमुख डॉ. शिवकुमार स्वामी का 111 वर्ष की उम्र में निधन

सिद्धगंगा मठ के प्रमुख डॉ. शिवकुमार स्वामी का 111 वर्ष की उम्र में निधन
X

बेंगलुरू । कर्नाटक के तुमकुरु में श्रीसिद्धगंगा मठ के प्रमुख शिवकुमार स्वामी का आज दोपहर निधन हो गया। वह 111 साल के थे। करीब दो सप्ताह से वह वेंटिलेटर पर थे। बेंगलुरू के विशेषज्ञ डाक्टरों की टीम द्वारा उनका मठ में ही उपचार किया जा रहा था। उनका अंतिम संस्कार 22 जनवरी को शाम 4:30 बजे किया जाएगा। राज्य सरकार ने तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

शिवकुमार स्वामी पिछले कुछ समय से अस्वस्थ थे। पिछले साल दिसम्बर में एक ऑपरेशन के बाद उनके फेफड़ों में संक्रमण हो गया था। उन्हें मठ वापस लाने से पहले चेन्नई में उनका इलाज किया गया था, जहां उन्हें जीवन रक्षक उपकरणों पर रखा गया था। सोमवार को स्वामी जी ने पूर्वाह्न 11.44 बजे अंतिम सांस ली। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा सहित कई वरिष्ठ नेता चलते-फिरते भगवान' के रूप में ख्यातिलब्ध शिवकुमार स्वामी जी के निधन के बाद तुमकुरु पहुंचे।

मठ के चारों ओर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है क्योंकि बड़ी संख्या में उनके अनुयायियों ने अपने आध्यात्मिक नेता की एक झलक पाने के लिए तुमकुरु पहुंचना शुरू कर दिया है। शिवकुमार स्वामी लिंगायत समाज के बड़े धर्मगुरु माने जाते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपाध्यक्ष अमित शाह और गांधी परिवार के लोग भी उनका बड़ा सम्मान करते थे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताया है। प्रधानमंत्री ने अपनी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा, "परम पावन डॉ. श्रीश्री श्री शिवकुमार स्वामीगलु लोगों के लिए उपलब्ध रहते थे, विशेष रूप से गरीब और कमजोर लोगों के लिए। उन्होंने खुद को गरीबी, भुखमरी और सामाजिक अन्याय जैसी बीमारियों को कम करने के लिए समर्पित किया।"

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी स्वामी जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, "शिवगंगा स्वामी जी, सिद्धगंगा मठ के महंत के निधन के बारे में सुनकर मुझे दुख हुआ। स्वामी जी सभी धर्मों और समुदायों के करोड़ों भारतीयों के प्रति आदर और सम्मान करते थे। उनका देहावसान एक गहरे आध्यात्मिक शून्य को पीछे छोड़ देता है। उनके सभी अनुयायियों के प्रति मेरी संवेदना।"

कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदुयुरप्पा ने ट्वीट किया, "राष्ट्र ने एक महान हस्ती खो दी है। उनका जाना एक बड़ा नुकसान है। उन्होंने वह पूरा जीवन ज‍िया, जो इतिहास में अद्वितीय है। वह 90 साल तक काम करते रहे।"

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी स्वामी जी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा, "आध्यात्मिक नेता डॉ. श्रीश्री शिवकुमार स्वामीगलु जी के निधन से अत्यंत दुखी हूं। उन्होंने विशेष रूप से स्वास्थ्य और शिक्षा की दिशा में समाज के लिए बहुत योगदान दिया। उनके अनगिनत अनुयायियों के प्रति मेरी संवेदना।"

लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता एवं सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपने शोक संवेदना में कहा, "कांग्रेस, सिद्धगंगा मठ के द्रष्टा श्री शिवकुमार स्वामी जी के निधन के बाद मैं भारत सरकार से उन्हें भारत रत्न देने का अनुरोध करता हूं। वह उपाधि पाने के योग्य हैं। कर्नाटक के ऐसे महान व्यक्ति को भारत रत्न की शुभकामनाएं देना उचित है।"(हि.स.)

Updated : 2019-02-14T14:48:54+05:30

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top