Home > Lead Story > Defence Minister Rajnath Singh Biography: फिजिक्स प्रोफेसर से देश के रक्षा मंत्री कैसे बने राजनाथ सिंह, जानिए उनका सियासी सफर...

Defence Minister Rajnath Singh Biography: फिजिक्स प्रोफेसर से देश के रक्षा मंत्री कैसे बने राजनाथ सिंह, जानिए उनका सियासी सफर...

Defence Minister Rajnath Singh: क्‍या आप जानते हैं रक्षामंत्री बनने से पहले राजनाथ सिंह एक फिजिक्स प्रोफेसर भी रह चुके हैं, आइए आपको बताते हैं देश के जाने माने नेता केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के सियासी सफर के बारे में महत्‍वपूर्ण बातें:

Defence Minister Rajnath Singh Biography: फिजिक्स प्रोफेसर से देश के रक्षा मंत्री कैसे बने राजनाथ सिंह, जानिए उनका सियासी सफर...
X

जब भी राजनीति में देश के वरिष्‍ठ और अनुभवी नेताओं की बात आती है तो उसमें केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का नाम सबसे पहले आता है। राजनाथ सिंह 30 मई 2019 से भारत के रक्षा मंत्री के पद पर कार्यरत हैं। 2024 में देश में फिर से बीजेपी की सरकार बनने के बाद उन्‍हें एक बार फिर से देश के रक्षा मंत्री के पद पर चुना गया है।

लेकिन क्‍या आप जानते हैं रक्षामंत्री बनने से पहले राजनाथ सिंह एक फिजिक्स प्रोफेसर भी रह चुके हैं, आइए आपको बताते हैं देश के जाने माने नेता केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के सियासी सफर के बारे में महत्‍वपूर्ण बातें:

चंदौली जिले में जन्मे राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह का जन्म 10 जुलाई, 1951 को उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के बभोरा गांव में हुआ था। इनके पिता का नाम राम बदन सिंह और माता का नाम गुजराती देवी है। राजनाथ सिंह जब 13 साल के थे तभी से वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़ गए थे। सिंह ने गोरखपुर विश्वविद्यालय से फिजिक्स में मास्टर की डिग्री हासिल की। इसके बाद इन्होंने के.बी.स्नातकोत्तर महाविद्यालय, मिर्जापुर में बतौर फिजिक्स प्रोफेसर के रूप में काम किया। लेकिन जल्द ही इसे छोड़ राजनाथ सिंह ने राजनीति में एंट्री ले ली। राजनाथ सिंह ने शादी साल 1971 में सावित्री सिंह से की और उनके दो बेटे और एक बेटी हैं। उनके बेटे का नाम पंकज सिंह है जो नोएडा से भारतीय जनता पार्टी के विधायक हैं।

राजनाथ सिंह का सियासी सफर


* राजनाथ सिंह मूलरूप से साल 1974 में राजनीति में आएं। ठीक इसके अगले साल यानी 1975 में मिर्जापुर से भारतीय जनसंघ के जिला अध्यक्ष बने। वहीं पहली बार राजनाथ सिंह ने साल 1977 में चुनाव लड़ा और विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर पहली बार सदन पहुंचे। धीरे-धीरे वो पार्टी के साथ मिलकर काम करने लगे।

* साल 1991 के यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी जीत दर्ज करने में कामयाब रही और भाजपा ने प्रदेश में सरकार बना ली। राजनाथ सिंह इस सरकार में शिक्षा मंत्री बने।

* राजनाथ सिंह शिक्षा मंत्री रहते हुए कई अहम बदलाव किए। जैसे- माध्यमिक परीक्षाओं में नकल विरोधी अधिनियम को लागू करना, वैदिक गणित की पढ़ाई शुरू करना और इतिहास की पाठ्य पुस्तकों में संशोधन करना। वहीं बीजेपी आलाकमान ने साल 1994 में राजनाथ सिंह को राज्यसभा भेज दिया। इसके बाद उन्हें उत्तर प्रदेश के लिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया। धीरे-धीरे उनका पार्टी में वर्चस्व बढ़ने लगा और अक्टूबर 2000 में वे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।

केंद्र की राजनीति में 'राज'नाथ का सफर


* यूपी की सियासत के साथ राजनाथ सिंह केंद्रीय राजनीति में भी सक्रिय थे। साल 1994 में वे राज्यसभा के सदस्य बने। 22 नवंबर 1999 को उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय मंत्री बनाया गया। जिसमें उन्हें भूतल एवं जल परिवहन विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई। इस दौरान उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी की ड्रीम प्रोजेक्ट राष्ट्रीय राजमार्ग विकास कार्यक्रम (NHDP) को शुरू करने का अवसर मिला।

* साल 2002 में तीसरी बार राज्य सभा का सदस्य बने और 24 मई 2002 को कृषि मंत्री बनाए गए। जनवरी 2004 में उन्हें खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार मिला। इस दौरान राजनाथ सिंह ने किसान कॉल सेंटर और कृषि आय बीमा योजना की शुरुआत की, जो काफी चर्चा में रहा।

* जानकारी के लिए बता दें कि, साल 2009 में राजनाथ सिंह पहली बार यूपी की गाजियाबाद लोकसभा सीट से सांसद चुने गए। सिंह बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर भी रह चुके हैं। पार्टी ने उन्हें ये जिम्मेदारी साल 2005 से 2009 और 2013 से 2014 तक के लिए दी।

* साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने राजनाथ सिंह को लखनऊ सीट से चुनावी मैदान में उतारा। इस सीट से राजनाथ पहली बार चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे। दूसरी बार यानी साल 2019 में भी बीजेपी ने इसी सीट से टिकट दिया, जहां से जीत हासिल करने में सिंह कामयाब रहे। वहीं साल 2024 के लोकसभा चुनाव में पार्टी ने इन्हें लखनऊ सीट से ही चुनावी मैदान में उतारा और एक बार फिर राजनाथ सिंह पार्टी की उम्‍मीदों पर खरे उतरे।

* साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की जीत होने पर राजनाथ सिंह ने मोदी सरकार में 26 मई 2014 को केंद्रीय गृह मंत्री के रूप में शपथ ली। जबकि साल 2019 के आम चुनाव में बीजेपी की एक बार फिर से जीत हासिल हुई। इस बार वो रक्षा मंत्री बनाए गए। साल 2024 में भी यही हुआ, केंद्र में बीजेपी ने एनडीए के साथ मिलकर अपनी सरकार बनाई और राजनाथ सिंह ने एक बार फिर रक्षा मंत्री की शपथ ली।

मौजूदा समय में राजनाथ सिंह मोदी सरकार में रक्षा मंत्री के पद पर आसीन हैं। इसके अलावा सिंह देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की कमान भी संभाल चुके हैं। राजनाथ सिंह दो बार भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष रहे हैं। एक राजनेता और मंत्री के तौर पर राजनाथ सिंह का सियासी सफर काफी शानदार रहा है।

राजनाथ सिंह को उनकी सेवाओं के लिए कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त हुए हैं। वे भारतीय राजनीति में एक सम्मानित और प्रेरणादायक व्यक्ति हैं।

राजनाथ सिंह का जीवन और उनकी उपलब्धियाँ भारतीय राजनीति में एक महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं। उनके नेतृत्व में देश ने विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति की है।

Updated : 10 July 2024 7:14 AM GMT
Tags:    
author-thhumb

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Top