Latest News
Home > Lead Story > नौसेना के लिए तैयार हुआ देश का पहला पैसेंजर ड्रोन, 130 किलो वजन उठाने में सक्षम

नौसेना के लिए तैयार हुआ देश का पहला पैसेंजर ड्रोन, 130 किलो वजन उठाने में सक्षम

इमरजेंसी में बन जाएगा एयर एम्बुलेंस

नौसेना के लिए तैयार हुआ देश का पहला पैसेंजर ड्रोन, 130 किलो वजन उठाने में सक्षम
X

पुणे। महाराष्ट्र में नौसेना के लिए देश का पहला पैसेंजर ड्रोन तैयार किया गया है। इस का नाम वरुण रखा गया है। ये ड्रोन 130 किलोग्राम के वजन के साथ उड़ान भर सकता है और 25 किमी. का सफर 25 से 33 मिनट में पूरा कर लेगा। इसे पुणे की एक स्टार्टअप कंपनी चाकन सागर डिफेंस इंजीनियरिंग तैयार किया है।

इस ड्रोन का निर्माण विशेष रूप से नौसेना के लिए किया गया है। समुद्र में युद्ध पोत पर सामान और इंसानों को पहुंचाने की आवश्यकता होती है। वर्तमान में उस समय हेलीकॉप्टर व नाव का सहारा लिया जाता है। वरुण को इसी जरूरत को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। एक जहाज से दूसरे जहाज तक इसकी मदद से आसानी से इंसान और सामान को पहुंचाया जा सकता है।

ये है खासियत -

कंपनी के अधिकारीयों के अनुसार वरुण उड़ान के दौरान तकनिकी खराबी आने पर सेफ लैंडिग कर सकता है। इसमें एक पैराशूट लगा है, जो इमरजेंसी या खराबी आने पर अपने आप खुल जाएगा और ड्रोन सुरक्षित लैंड हो जाएगा। उन्होंने बताया की आपातकाल में वरुण का उपयोग एयर एम्बुलेंस के रूप में भी किया जा सकता है। इसके साथ ही इसे दूर-दराज के इलाके में सामान पहुंचाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री के सामने प्रदर्शन -

बीते माह जुलाई में ड्रोन का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वरुण ड्रोन का प्रदर्शन देखा था। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे। इसका एक वीडियो मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन द्वारा द्वारा शेयर किया गया था। प्रधानमंत्री ने कहा था कि उनका सपना है कि भारत में हर किसी के हाथ में स्मार्टफोन, हर खेत में ड्रोन और हर घर में समृद्धि हो।

Updated : 5 Aug 2022 12:49 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top