Top
Home > Lead Story > देश में कोरोना की चपेट में 76 फीसदी पुरुष, 40 साल के कम उम्र के हैं 47 पर्सेंट मरीज : स्वास्थ्य मंत्रालय

देश में कोरोना की चपेट में 76 फीसदी पुरुष, 40 साल के कम उम्र के हैं 47 पर्सेंट मरीज : स्वास्थ्य मंत्रालय

देश में कोरोना की चपेट में 76 फीसदी पुरुष, 40 साल के कम उम्र के हैं 47 पर्सेंट मरीज : स्वास्थ्य मंत्रालय

नई दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4067 हो चुकी है। पिछले 24 घंटों में 693 केस सामने आए हैं। अब तक 291 लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 109 लोगों की मौत हुई है, रविवार को 30 लोगों की जान गई है। अब तक 1445 कोरोना मरीज तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश में अब तक सामने आए कोरोना संक्रमण के मामलों में 76 फीसदी पुरुष हैं तो 24 फीसदी महिलाएं हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 47 पर्सेंट मरीज 40 साल के कम उम्र के हैं। 19 पर्सेंट मरीजों की उम्र 60 साल से अधिक है। लेकिन मृतकों में बुजुर्गों की संख्या 67 पर्सेंट है। अब तक जितने लोगों की मौत हुई है उनमें से 80 फीसदी ऐसे हैं जो पहले से दूसरी बीमारियों से ग्रस्त थे।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने कहा कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन अभी केवल उन स्वास्थ्य कर्मियों को लेने के लिए कहा गया है जो कोरोना मरीजों के इलाज में जुटे हैं या हाई रिस्क में है। अभी इसके प्रभाव को लेकर अधिक सबूत नहीं है। इसे अभी सामुदायिक स्तर पर इस्तेमाल के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं।

गृहमंत्रालय की ओर से बताया गया कि तबलीगी जमात के कार्यकर्ताओं और उनके संपर्क में आए 25 हजार से अधिक लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। हरियाणा में 5 गांवों को सील किया गया है। तबलीगी जमात से जुड़े 2083 विदेशी पहचाने गए हैं, इनमें से 1750 ब्लैकलिस्ट किए गए हैं।

आईसीएमआर की ओर से बताया गया कि 5 लाख रैपिड टेस्ट किट का ऑर्डर दिया गया है। इनमें से 2.50 लाख किट 8-9 तारीख तक डिलीवर हो जाएंगे।

घातक कोरोनवायरस के लिए महिलाओं की तुलना में पुरुष अधिक संवेदनशील होते हैं। यह बात महाराष्ट्र सरकार द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों से भी पता चलती है। इस पश्चिमी राज्य में अब तक सामने आए कुल 781 कोरोनावायरस पॉजिटिव मामलों में से 63 प्रतिशत पुरुष हैं। चिकित्सा शिक्षा और ड्रग्स विभाग के आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र में अब तक 45 व्यक्ति इस घातक रोग के कारण जिंदगी की जंग हार चुके हैं। यहां मृत्यु दर 6.01 प्रतिशत है। 3 अप्रैल को यहां 3 लोगों की मौत हुई थी, वहीं 6 अप्रैल को यहां मरने वालों की संख्या 13 थी।

Updated : 6 April 2020 11:35 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top