Home > Lead Story > Covid-19 का बुरा दौर गुजर चुका, फिर भी 'दो गज की दूरी' के नियम का पालन करना जरूरी : जावड़ेकर

Covid-19 का बुरा दौर गुजर चुका, फिर भी 'दो गज की दूरी' के नियम का पालन करना जरूरी : जावड़ेकर

Covid-19 का बुरा दौर गुजर चुका, फिर भी दो गज की दूरी के नियम का पालन करना जरूरी : जावड़ेकर
X

नई दिल्ली। केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दावा किया है कि कोरोना का सबसे बुरा दौर गुजर चुका है, फिर भी स्थिति पूरी तरह से कंट्रोल में नहीं आने तक सावधानियां बरतनी होंगी।जब तक इसकी वैक्सीन नहीं आ जाती, तब तक 'दो गज की दूरी' के नियम का पालन करना चाहिए।

प्रकाश जावड़ेकर ने इस दौरान पश्चिम बंगाल सरकार पर हमला भी बोला है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से निपटने में अब तक भारत ने अन्‍य देशों की तुलना में बहुत बेहतर काम किया है। विभन्नि जोन को अच्‍छी तरह से परिभाषित किया गया है। हमें 'दो गज की दूरी' के नियम का पालन करते रहना चाहिए। उन्‍होंने कहा, चीन से ये संक्रमण आया, लेकिन अभी इसकी कोई वैक्सीन नहीं मिली है। जब तक वैक्सीन नहीं मिलती, तब तक हमें एक तरह से कोविड-19 के साथ ही जीना होगा। मास्क लगाना, बार-बार हाथ धोना, 2 गज की दूरी रखना है। समाज ने 40 दिन में ये बहुत अच्छे से सीख लिया है।

उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का नाम नहीं लेते हुए कहा कि बंगाल में कुछ लोग भारत और बंगाल के बीच युद्ध कराना चाहते हैं। हमें युद्ध में कोई रुचि नहीं है, हमें बहस में रुचि नहीं। हमें परेशानी को हल करने में रुचि है। हम हर राज्य की मदद करना चाहते हैं।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि चीन को लेकर इस समय पूरे विश्‍व में गुस्‍सा है। कई देश अपनी कंपनियां चीन से हटाने की तैयारी कर रहे हैं। भारत के लिए अब जबरदस्त अवसर है। इस अवसर को जब्त करने के प्रयास करने होंगे। सभी बड़ी कंपनियों का भारत में स्वागत है। पिछले 6 वर्षों में 2 मोबाइल कारखानों से अब 150 कारखाने हैं। पीपीई, वेंटिलेटर आदि का भी निर्माण कर रहे हैं। जैसे ही लॉकडाउन समाप्त होगा सारे उद्योग शुरू होंगे।

Updated : 2 May 2020 2:14 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top