Top
Home > Lead Story > श्रीराम से टकराने का जिसने साहस किया, उसकी दुर्गति हुई, अब टीएमसी की बारी : योगी आदित्यनाथ

श्रीराम से टकराने का जिसने साहस किया, उसकी दुर्गति हुई, अब टीएमसी की बारी : योगी आदित्यनाथ

श्रीराम से टकराने का जिसने साहस किया, उसकी दुर्गति हुई, अब टीएमसी की बारी : योगी आदित्यनाथ
X

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में अपनी सरकार बनाने के लिए भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है। चुनाव प्रचार करने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बार फिर बंगाल में हैं। आज उन्होंने जलपाईगुड़ी की चुनाव सभा में ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने दावा किया श्रीराम से टकराने वालों की तरह ममता की भी दुर्गति होना तय है।

जनसभा में जय श्रीराम नारों के बीच योगी ने कहा कि जिसने श्रीराम से टकराने का साहस किया है, उसकी दुर्गति हुई है और अब तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की दुर्गति होना तय है। उन्होंने कहा कि जिद भाजपा से हो सकती है, हमसे हो सकती है। लेकिन श्रीराम आराध्य हैं, जन-जन की आस्था के केंद्र हैं, राम से टकराने का जिसने साहस किया है, उसकी दुर्गति हुई है। योगी ने कहा कि आप चिंता मत करें। टीएमसी आज आपके अधिकार को हड़पने की कोशिश कर रही है। 02 मई के बाद एक-एक पैसा निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि अपराधी कहीं भी छिप जाए, 02 मई के बाद टीएमसी के गुंडों को पाताल से निकाल कर जेल के शिकंजों में डाला जाएगा।

योगी ने कहा कि दीदी की सहानुभूति किसानों के प्रति नहीं है। किसानों का शोषण करने वालों के साथ दीदी की सहानुभूति है। उन्होंने कहा कि अपना गुस्सा प्रधानमंत्री मोदी पर मत उतारिए। अब बंगाल की जनता टीएमसी से पूरी तरह से मुक्ति चाहती है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद वहां विकास कार्यों में तेजी आई है, उसी तरह से बंगाल का भी विकास होगा। योगी ने कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण का कार्य आरंभ हो गया है। उन्होंने कहा कि विकास की बात करो तो ममता दीदी चिढ़ जाती हैं, रोजगार की बात करो तो दीदी को परेशानी होने लगती हैं, दुर्गा पूजा की बात करो तो दीदी को परेशानी होने लगती है। बंगाल के चुनाव ने दीदी को चंडी पाठ करने के लिए मजबूर कर दिया। अगर वह अपने गुस्से को बंगाल के विकास पर नहीं उतारती तो आज बंगाल में खुशहाली होती। उन्होंने कहा कि भाजपा बंगाल के लोगों के हितों के संरक्षण और गोरखा समस्या के समाधान के लिए प्रतिबद्ध है।

Updated : 2021-04-07T13:21:25+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top