Home > Lead Story > बसपा का विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने का एलान, पंजाब को छोड़ कहीं नहीं होगा गठबंधन

बसपा का विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने का एलान, पंजाब को छोड़ कहीं नहीं होगा गठबंधन

बसपा का विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने का एलान, पंजाब को छोड़ कहीं  नहीं होगा गठबंधन
X

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने उत्तर प्रदेश के साथ ही उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव में किसी भी दल के साथ गठबंधन की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया है। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने रविवार को सिलसिलेवार चार ट्वीट में पंजाब में अकाली दल के अलावा किसी भी राज्य में किसी के साथ भी गठबंधन से इन्कार कर दिया है। अटकलें लगने के साथ ही उत्तर प्रदेश में बसपा के औवैसी की पार्टी के साथ गठबंधन की खबरें आने के बाद मायावती फ्रंट पर आ गई और उन्होंने इन सभी अफवाह को मीडिया की देन बताया।

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी उत्तर प्रदेश के साथ उत्तराखंड में अकेले दम पर विधानसभा चुनाव लड़ेगी। उत्तर प्रदेश में हमारी पार्टी का असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम से कोई गठबंधन नहीं हो रहा है। उन्होंने किसी भी तरह की खबर को खारिज किया है। मायावती ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में 2022 का विधानसभा चुनाव बहुजन समाज पार्टी अकेले ही लड़ेगी। पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हमारा पंजाब में शिरोमणि अकाली दल के साथ ही गठबंधन है। इसके अलावा अन्य किसी भी राज्य में किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन न हुआ है और न ही आगे होगा। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों में सभी सियासी पार्टी जुटी हुई हैं। 2012 से उत्तर प्रदेश की सत्ता से बाहर बहुजन समाज पार्टी ने भी इस बार कमर कस ली है। बसपा की मुखिया इसको लेकर पार्टी में काफी फेरबदल भी कर रही हैं। बहुजन समाज पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने साफ किया है कि उत्तर प्रदेश में इस बार बसपा किसी के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

एक न्यूज चैनल ने असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम और बीएसपी के बीच गठबंधन की खबर प्रसारित की थी। मायावती ने इसे सिरे से खारिज किया है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया कि मीडिया के एक न्यूज चैनल में कल से यह खबर प्रसारित की जा रही है कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा आम चुनाव औवेसी की पार्टी एआइएमआइएम और बसपा मिलकर लड़ेगी। यह खबर पूर्णत: गलत, भ्रामक व तथ्यहीन है। इसमें रत्तीभर भी सच्चाई नहीं है। बसपा इसका जोरदार खण्डन करती है। मायावती ने आगे कहा कि वैसे इस संबंध में पार्टी फिर से यह स्पष्ट कर रही है कि पंजाब को छोड़कर, यूपी व उत्तराखण्ड में अगले वर्ष के प्रारंभ में होने वाला विधानसभा का यह आम चुनाव बसपा किसी भी पार्टी के साथ कोई भी गठबंधन करके नहीं लड़ेगी अर्थात अकेले ही लड़ेगी। मायावती ने गठबंधन की खबरों को गलत बताया।

मायावती ने इससे पहले मार्च में भी उत्तर प्रदेश में अकेले ही विधानसभा चुनाव में लड़ने की एलान किया था। उन्होंने कहा हमारी पार्टी का किसी के साथ भी गठबंधन का अनुभव अच्छा नहीं रहा। हमारी पार्टी के नेता तथा कार्यकर्ता और हमारे मतदाता बेहद अनुशासित हैं। देश की अन्य पार्टियों के साथ ऐसा नहीं है। मायावती ने कहा कि किसी के साथ भी गठबंधन में हमारा वोट तो उस पार्टी को स्थानांतरित हो जाता है, जबकि दूसरी पार्टी का वोट हमें नहीं मिल पाता है। यह बेहद ही खराब तथा कड़वा अनुभव है। भविष्य में हम किसी भी दल के साथ कोई गठबंधन नहीं करेंगे।

Updated : 28 Jun 2021 12:21 AM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top