Top
Home > Lead Story > शाह के नामांकन में एकजुट दिखा राजग का कुनबा

शाह के नामांकन में एकजुट दिखा राजग का कुनबा

शाह के नामांकन में एकजुट दिखा राजग का कुनबा
X

अहमदाबाद। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह के गांधीनगर लोकसभा सीट से नामांकन में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) ने अपनी एकजुटता का परिचय दिया। राजग के घटक शिरोमणि अकाली दल(शिअद), शिवसेना, लोकजनशक्ति पार्टी(लोजपा) के शीर्ष नेताओं ने गांधीनगर की जनता से शाह को प्रचंड मतों से जीत दिलाने की अपील की। इस दौरान घटक दलों की एकजुटता ने साफ कर दिया कि कि भाजपा के सहयोगी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दोबारा सत्ता में वापसी कराने के लिए पूरी शिद्दत से उनके साथ खड़े हैं। इतना ही नहीं, भाजपा के सबसे पुराने सहयोगी अकाली दल और शिवसेना ने विपक्षी गठबंधन की चुटकी लेते हुए कहा कि उनके नेता तो नरेंद्र मोदी हैं, विपक्ष को भी अपने नेता के नाम और नीति का खुलासा करना चाहिए।

नामांकन से पहले सरदार पटेल चौक पर आयोजित विजय संकल्प सभा के मंच से भाजपा समर्थकों के भारी जनसमूह को संबोधित करते हुए राजग के नेताओं ने शाह को भारी बहुमत से जिताने की अपील की। साथ ही शाह के नेतृत्व क्षमता को भी घटक दलों के नेताओं ने उन्मुक्त कंठ से सराहा।

कुशल संगठनकर्ता और इंस्टिट्यूशन हैं शाह, नई सरकार में बनेंगे मंत्री: बादल

भाजपा के पुराने सहयोगी अकाली दल के प्रमुख परकाश सिंह बादल ने विजय संकल्प सभा को संबोधित करते हुए कहा कि गुजरात की जनता बहुत भाग्यशाली है जो देश का सबसे बेहतरीन प्रधानमंत्री और विश्व के सबसे बड़े राजनीतिक दल का अध्यक्ष उनके बीच का है। बादल ने यह भी ऐलान किया कि शाह चुनाव जीतने के बाद केंद्र की नई मोदी सरकार में मंत्री बनेंगे।

बादल ने अपने संक्षिप्त सम्बोधन में शाह को भारी मतों से जीत दिलाने की अपील के साथ ही उनके सांगठनिक कौशल की भी जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि अमित शाह एक जमीनी नेता हैं और जमीन पर पकड़ कैसे बनाई जाती है इसमें उन्हें महारथ हासिल है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से शाह ने भाजपा अध्यक्ष के रूप में पार्टी और संगठन को मजबूती देते हुए विस्तार दिया है, वह अपने आप में अद्भुत है। वयोवृद्ध नेता ने चिलचिलाती धूप में खुले मंच से अपने संबोधन को जारी रखते हुए कहा कि सही शब्दों में कहा जाए तो अमित शाह खुद में एक इंस्टिट्यूशन हैं।

कुशल नेतृत्वकर्ता हैं अमित भाई: ठाकरे

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भाजपा के साथ मतभेदों को बीते दिन की बात बताते हुए कहा कि अमित शाह कुशल संगठनकर्ता हैं। जिस तरह से उन्होंने भाजपा को विस्तार दिया है और संगठन को मजबूती से खड़ा किया है उसकी जितनी प्रशंसा की जाए कम है। ठाकरे ने शाह के प्रति अपना अनुराग जताते हुए कहा कि अमित भाई हमारे बीच कोई मत भिन्नता अब नहीं बची है। पीठ में छुरा घोंपना हमारे संस्कार में नहीं है। वह दिल से यहां उनके नामांकन में आये हैं।

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि दोनों दलों के बीच मतभेद और तनिक मनमुटाव जरूर था पर जब वो और भाजपा अध्यक्ष साथ बैठे तो सारी चीजें खत्म हो गई।

मोदी-शाह की जोड़ी ने 'कांग्रेस मुक्त भारत' अभियान को किया मुक्कमल: पासवान

लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने शाह और नरेंद्र मोदी की जोड़ी को करिश्माई करार देते हुए कहा कि पहले जब कांग्रेस मुक्त भारत की बात होती थी तो उनको तनिक संशय होता था, की ये कैसे संभव होगा। फिर दोनों नेताओं की जोड़ी ने जिस तरह भाजपा के साथ ही देशभर में राजग को मजबूती दी उससे कांग्रेस मुक्त भारत का नारा सच साबित हुआ है। पासवान ने कहा कि राजग के खिलाफ बन रहा गठबंधन अब लट्ठबन्धन में तब्दील हो गया है। उन्होंने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में भाजपा और राजग 2014 से भी ज्यादा सीटें जीतेगी।

जो मैं न कर सका उसे अमित शाह ने कर दिखाया: राजनाथ

राजग के अलावा भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एवं गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी शाह की जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि जो काम वह अपने साढ़े पांच साल के कार्यकाल में नहीं कर सके उसे अमित शाह ने साढ़े चार वर्षो में ही कर दिखाया। उन्होंने केंद्र सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा के लिए गठबंधन जरूरत नहीं अपितु प्रतिबद्धता है।

Updated : 2019-04-04T17:10:43+05:30
Tags:    

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top